दिग्विजय सिंह का प्रधानमंत्री को पत्र, कहा नवोदय विद्यालयों को पीपीपी मोड के तहत सैनिक स्कूल में न करे परिवर्तित

केंद्र सरकार (Central Government) मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और ओडिशा के 5 नवोदय विद्यालयों को पीपीपी( पब्लिक प्राईवेट पार्टनरशिप) मोड के तहत सैनिक स्कूल (Sainik School) में परिवर्तित करने की तैयारी कर रही है।

दिग्विजय सिंह

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। राज्यसभा सांसद पूर्व मुख्यमंत्री श्री दिग्विजय सिंह जी ने प्रधानमंत्री (Prime Minister) नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) जी से पत्र लिखकर आग्रह किया है कि केंद्र सरकार (Central Government) मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और ओडिशा के 5 नवोदय विद्यालयों को पीपीपी( पब्लिक प्राईवेट पार्टनरशिप) मोड के तहत सैनिक स्कूल (Sainik School) में परिवर्तित न करे। उन्होंने हिंदुस्तान के गांव-गरीब बच्चों की तरफ से प्रधानमंत्री से ये गुहार लगाई है। उन्होंने पत्र में लिखा कि मुझे खेद है कि सरकार ने वर्ष 2018 से 2020 तक देश में सिर्फ एक नया जवाहर नवोदय विद्यालय (Jawahar Navodaya Vidyalaya ) प्रांरभ किया।

दिग्विजय सिंह का प्रधानमंत्री को पत्र, कहा नवोदय विद्यालयों को पीपीपी मोड के तहत सैनिक स्कूल में न करे परिवर्तित

उन्होंने कहा कि भोपाल (Bhopal), सीहोर (Sehore) और कटनी(Katni) जिलों में और छत्तीसगढ़ के रायपुर और ओडिशा के बालासोर जिलों के जवाहर नवोदय को समाप्त करके सैनिक स्कूल न बनाए क्योंकि इन स्कूलों में पढ़ने वाले उन बच्चों को भी एन.डी.ए की परीक्षा देनी होगी, जो सेना में नहीं जाना चाहते है।

ये भी पढे़- हवाला की रकम लेकर मुंबई जा रही थी महिला, पुलिस ने 20 लाख रुपए सहित महिला को किया गिरफ्तार

श्री सिंह ने निम्न और मध्यमवर्गीय परिवारों के बच्चों का भविष्य संवारने वाले इन नवोदय विद्यालयों को निजी हाथों में जाने से बचाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से केंद्र सरकार के निर्णय पर पुनर्विचार करने के लिए निवेदन किया है। उन्होंने पत्र में लिखा कि हिन्दुस्तान के गांव और गरीबों के बच्चों की ओर से मेरी आपसे विनती है कि कृपया इस मामले को गंभीरता से ले।