Viral Video के बाद सामने आया दिग्विजय का बड़ा बयान, समर्थन में उतरे जयवर्धन-नाथ

-Politics-should-not-be-on-the-issue-of-air-strikes--Digvijay-Singh

भोपाल। एमपी (MP) की राजनीति में इन दिनों कुछ ठीक नही चल रहा । आए दिन वायरल ऑडियो-वीडियो (audio-video) मीडिया में सुर्खियां बन रहे है।अब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) के वायरल वीडियो से जमकर बवाल मच गया है। इस मामले में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Former Chief Minister Digvijay Singh) के खिलाफ भोपाल क्राइम ब्रांच (Bhopal Crime Branch) ने केस दर्ज किया गया है। आरोप है कि दिग्विजय सिंह ने शिवराज का फेक वीडियो शेयर किया। इन आरोपों के बाद दिग्विजय का बड़ा बयान सामने आया है। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का कहना है कि जब से सीएम शिवराज सिंह चौहान के दलालों ने बुधनी के आदिवासियों को ठगा है ।आदिवासियों से ठगी के लिए उन पर f.i.r. तक दर्ज नहीं हुई है।

दिग्विजय ने आगे कहा कि जब मैंने उनके आदिवासियों के हक के लिए शिवराज के खिलाफ आवाज उठाई और कहा कि आपके दरवाजे पर आकर धरना देना होगा तो भाजपा तिलमिलाई गई है और मेरे खिलाफ एफआईआर दर्ज करवा दी। मेरे खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई गई है , मुझे इस पर कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन इस बात की भी जांच होनी चाहिए कि आखिर वीडियो को एडिट किसने किया ।जिस प्रकार से राहुल गांधी का वीडियो एडिट किया गया था, क्या उसकी भी जांच होगी क्या उस पर भी कार्रवाई होगी।

समर्थन में उतरे कमलनाथ

इधर भाजपा द्वारा एफआईआर करवाए जाने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ ने सरकार पर निशाना साधा है। नाथ ने ट्वीट कर लिखा है कि यदि कोई वीडियो एडिटेड है तो कार्यवाही एडिटेड वीडियो बनाने वाले के ख़िलाफ़ होनी चाहिये लेकिन दिग्विजय सिंह पर कार्यवाही समझ के परे है ?सरकारें आती जाती रहती है लेकिन भाजपा प्रदेश में एक ग़लत परंपरा को जन्म दे रही है। भाजपा से जुड़े लोग कांग्रेस के नेताओ के ख़िलाफ़ निरंतर डर्टी पॉलिटिक्स कर उनकी छवि बिगाड़ने का काम करते है वो एक वायरल विडीओ पर दिग्विजय सिंह के ख़िलाफ़ झूठी शिकायत कर रहे है।प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पर दर्ज हुए प्रकरण की कड़ी निंदा करता हूँ। भाजपा सरकार प्रदेश में निरंतर कांग्रेस के नेताओ पर दमनकारी कार्यवाही कर अपनी विद्वेष व दुर्भावना वाली सोच को प्रदर्शित कर रही है।

विधायक बेटे ने भी सरकार को घेरा

वही दिग्विजय के बेटे और कमलनाथ सरकार में मंत्री रहे जयवर्धन सिंह ने ट्वीटर के माध्यम से सरकार को घेरा है। जयवर्धन ने ट्वीट कर लिखा है कि शराब नीति को चरितार्थ करता वीडियो क्या आया, अफ़वाह उत्पादन करने वालो की साँसे फूल गई! क्या कहा, क्या नही कहा, इससे क्या फर्क पड़ता है! जो शिक्षक और महिला अधिकारियों से शराब विक़बा रहे है उसकी सोच वीडियो में दिये गए बयान वाली ही होगी।

ये है पूरा मामला
दरअसल रविवार दोपहर को एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें शिवराज सिंह चौहान (SHIVRAJ SINGH CHAUHAN) को यह कहते हुए बताया गया था कि प्रदेश में आबकारी विभाग कर क्या रहा है । चारों तरफ शराब ही शराब कर दो। लोग पीते रहे और झूमते रहे। प्रथम दृष्टया देखने पर ही यह साफ तौर पर लग रहा था कि इस वीडियो को एडिट करके बनाया गया है ।कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव दिग्विजय सिंह पर आरोप है कि उन्होंने इस वीडियो को एडिट करके वायरल कराया जिसके कारण बीजेपी की छवि धूमिल करने का प्रयास हुआ। इस पूरे मामले में दिग्विजय सिंह पर लोगों को भ्रमित करने और एडिट वीडियो वायरल करने के आरोप में क्राईम ब्रान्च भोपाल में एफआईआर दर्ज करवाई गई है।