मंत्री का विवादित बयान- सरकारी खर्चे पर तीर्थ करने से आशीर्वाद नहीं देता भगवान

भोपाल।
तीर्थ यात्रा योजना को लेकर पहले भी विवादों में फंस चुके सामान्य प्रशासन मंत्री डा.गोविंद सिंह ने एक बार फिर विवादास्पद बयान दिया है ।उन्होंने कहा है कि भगवान के मंदिर में बड़ी मेहनत के बाद जाकर दर्शन करने के बाद ही पुण्य लाभ मिलता है। आपने खुद देखा होगा कि किस तरह लोग पैदल चलकर या लेट लेट कर मंदिर जाते है और फिर ऐसे जाने से उन्हें आशीर्वाद मिलता है ।मेहनत से पैसा कमा कर यात्रा करने से लाभ मिलता है ।बिना मेहनत किए सरकार के पैसे से यात्रा करने से भगवान कोई लाभ नहीं देता।

मंत्री डा. गोविंद सिंह ने कहा कि व्यक्तिगत रूप से मैं तीर्थ यात्रा योजना का विरोधी हूं क्योंकि मैंने स्वयं देखा है कि इस योजना में गरीब लोग नहीं जाते बल्कि सूट बूट पहन कर लोग यात्रा करते हैं। यह लोग यात्रा में तफरीह करने जाते हैं ।वैसे भी मध्य प्रदेश सरकार की आर्थिक स्थिति खराब है। बीजेपी की सरकार  आर्थिक स्थिति खोखली कर गई है। तीर्थ यात्रा कराने के बजाय स्कूली शिक्षा, स्वास्थ्य और विकास के कार्य में अगर पैसा लगे तो ज्यादा अच्छा है ।सनातन धर्म में भी लिखा है कि मेहनत करके ईश्वर का दर्शन करने से लाभ मिलता है।