राज्य पुलिस सेवा के आठ अफसर बनेंगे आईपीएस, पदोन्नति के लिए डीपीसी कल

भोपाल।  राज्य पुलिस सेवा के आठ अफसरों को आईपीएस संवर्ग में पदोन्नति मिलेगी| राज्य पुलिस सेवा संवर्ग से भारतीय पुलिस सेवा संवर्ग में पदोन्नति के लिये सोमवार को संघ लोकसेवा आयोग में विभागीय पदोन्नति समिति की बैठक  30 दिसंबर को दिल्ली में होगी। रापुसे संवर्ग के 8 अफसरों को आईपीएस बनाने के लिये कुल 24 नामों पर विचार होगा।

इस डीपीसी में हिस्सा लेने के लिये मप्र से मुख्य सचिव एसआर मोहंती, प्रमुख सचिव गृह एसएन मिश्रा और डीजीपी व्हीके सिंह बैठक में शामिल होंगे। इसके अलावा डीपीसी में केंद्र सरकार के एडिशनल सेक्रेट्री स्तर के एक अधिकारी और यूपीएससी के एक सदस्य शामिल होंगे। 

बताया जाता है कि राज्य पुलिस सेवा के अफसरों को 2019 में आईपीएस संवर्ग में पदोन्नत करने के लिए बैठक लगातार टल रही थी। दरअसल, इस साल यदि विभागीय पदोन्नति समिति की बैठक नहीं होती तो पदोन्नति के माध्यम से मिलने वाले आईपीएस के आठ पद लैप्स हो जाते। सरकार इसीलिए लगातार कोशिश करती रही और सोमवार को बैठक की तारीख मिल गई। इसमें 1995 बैच के अफसरों को आईपीएस संवर्ग में पदोन्‍न‍त होने का मौका मिलेगा। 

विचारण क्षेत्र में शामिल सभी 24 अधिकारी राज्य पुलिस सेवा के वर्ष 1995 बैच के अधिकारी हैं। इनमें से स्कू्रटनी के बाद 8 नामों का अंतिम रूप से चयन किया जाएगा, जिन्हें आईपीएस अवार्ड होगा। विचारण क्षेत्र में जिन अफसरों के नाम शामिल किये गये हैं, उनमें अनिल कुमार मिश्रा, सुशील रंजन सिंह, देवेन्द्र केआर सिरोलिया, संजय कुमार सिंह, आलोक कुमार, रघुवंश कुमार सिंह, विकास पाठक, श्रीमती श्रद्धा तिवारी, वैष्णव शर्मा, सिद्धार्थ चौधरी, यशपाल सिंह राजपूत, धर्मवीर सिंह, अरविंत तिवारी, श्रीमती प्रियंका मिश्रा, वीरेन्द्र मिश्रा, प्रमोद कुमार सिन्हा, विजय कुमार भगवानी, राजीव मिश्रा, प्रकाश चंद्र परिहार, निश्चल झरिया, श्रीमती रचना ठाकुर, संतोष कोरी, जगदीश डाबर और मनोहर सिंह मंडलोई शामिल हैं।