भोपाल। मध्य प्रदेश में सत्ता में आने से पहले कांग्रेस ने भाजपा जनता पार्टी की बीते सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए विधानसभा चुनाव से पहले एक आरोप पत्र जारी किया था। इसमें भाजपा सरकार के कार्यकाल में हुए घोटालों की जांच और कार्रवाई करने की बात कही गई थई। लेकिन सरकार में कांग्रेस आए एक साल होने वाला है। अभी तक इस आरोप पत्र पर सरकार ने कोई कदम नहीं उठाया है। व्यापमं व्हिसल ब्लोअर डॉ आनंद राय ने अब सोशल मीडिया पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री कमलनाथ से पूछा है कि इस मामले कब कार्रवाई होगी। 

सोशल मीडिया पर डॉ राय ने ट्वीट कर लिखा है कि, ‘कांग्रेस  विपक्ष में थी उसने आरोपपत्र जारी किया था,जिसमे तमाम घोटालो भ्र्ष्टाचार का जिक्र था,1 साल होने को है मै माननीय @OfficeOfKNath  जी से आग्रह करता हूँ कि वह श्वेतपत्र लाये की आरोपपत्र पर क्या कार्यवाही की गई’

गौरतलब है कि 20 नवंबर 2019 को कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सूरजेवाला ने विधानसभा चुनाव से पहले एक आरोप पत्र जारी किया था। कांग्रेस ने ऐलान किया था कि वह विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा के खिलाफ जनता का आरोप पत्र लाएगी। इसी क्रम में कांग्रेस के मीडिया प्रमुख रणदीप सुरजेवाला ने भोपाल में यह आरोप पत्र जारी किया था। इस आरोप पत्र में व्यापम घोटाला, ई-टेंडरिंग, पोषण आहार घोटाले के साथ महिला सुरक्षा, बच्चियों के साथ बलात्कार और किसान आत्महत्या जैसे मामले शामिल थे। इस आरोप पत्र में यह 25 मुद्दों को शामिल किया गया था। कांग्रेस ने इसमें 21 घोटालों का जिक्र किया है।