ट्रक ड्राइवर्स की हड़ताल के चलते एक्शन में सीएम, कलेक्टर और एसपी को निर्देश, आवश्यक वस्तुओं के लिए किसी को परेशानी न हो

Atul Saxena
Published on -
Hit and run law protest, CM Dr. Mohan Yadav

Hit and run law protest, CM Dr. Mohan Yadav : हिट एंड रन कानून में किये गए बदलाव के बाद से इसका विरोध हो रहा है, ट्रक ड्राइवर हड़ताल पर चले गए हैं जिससे पेट्रोल, डीजल, सब्जी, दूध , फल जैसे जरुरी दैनिक उपयोग की वस्तुओं की किल्लत शुरू हो गई है, पेट्रोल पम्पों प् र्लाम्बी लम्बी लाइने लग गई है, सब्जियों की कीमतें बढ़ गई है, इस बीच हाई कोर्ट ने मध्य प्रदेश सरकार को हड़ताल पर एक्शन लेने के निर्देश दिए हैं और कहा है कि नागरिकों को किसी भी तरह की परेशानी न हो इसकी व्यवस्था बनायें।

सीएम डॉ मोहन यादव ने कलेक्टर,एसपी से की वीसी पर चर्चा  

मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव भी नागरिकों की मिलने वाली आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता को लेकर चिंतित हैं उन्होंने  ट्रक ड्राइवरों की हड़ताल के मद्देनजर वीसी के माध्यम से कमिश्नर्स, कलेक्टर्स, एसपी से चर्चा की, मुख्यमंत्री ने आज मंत्रालय में कमिश्नर, कलेक्टर और एसपी के साथ वीसी के माध्यम से चर्चा कर ट्रक ड्राइवरों की हड़ताल के मद्देनजर किए जा रहे आवश्यक उपायों की जानकारी ली और जरूरी निर्देश दिए। मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि नागरिकों को आवश्यक सामग्री के लिए परेशानी नही हो, इसके लिए सभी जरूरी उपाय किए जाएं।

सीएम के सख्त निर्देश – पेट्रोल डीजल में अवरोध बर्दाश्त नहीं होगा 

मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि प्रदेश में पेट्रोल-डीजल की सप्लाई प्रभावित न हो। उन्होंने निर्देश दिए कि पेट्रोल-डीजल को लेकर कोई अवरोध पैदा करेगा तो उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसके लिए सभी आवश्यक उपाय सुनिश्चित किए जाएं, जनता को किसी भी प्रकार का कष्ट न हो। पेट्रोल पंप और एलपीजी गैस के डीलर्स जिनके अपने वाहन हैं, उनके माध्यम से सप्लाई सुनिश्चित की जाए।

मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने जबलपुर, ग्वालियर, कटनी, रीवा, उज्जैन, सागर समेत विभिन्न जिलों के कलेक्टर, एसपी से चर्चा करते हुए कहा कि किसी भी मार्ग पर अवरोध और बाधा न हो। रास्ते की सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करें। सभी डीलर्स, एसोसिएशन के साथ बैठक करें। मुख्यमंत्री ने अफसरों से कहा कि हमारा मैदान में मूवमेंट दिखे। सोशल मीडिया, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया आदि प्लेटफार्म का उपयोग करते हुए स्थिति सामान्य होने की जानकारी दी जाए।


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News