Electricity-in-15000-schools-due-to-elections-in-MP

भोपाल।  प्रदेश में सरकारी स्कूलों की हालत किसी से छिपी नहीं है। प्रदेश में पिछले 6-7 महीने के भीतर विधानसभा एवं लोकसभा चुनाव हुए हैं। जिसकी वजह से 15 हजार ऐसे स्कूलों में बिजली पहुंच गई है, जहां पहले बिजली नहीं थी। चुनाव की वजह से इन स्कूलों में बिजली के स्थाई कनेक्शन हो गए हैं। इन स्कूलों में बिजली के स्थाई कनेक्शन हो गए और पानी, मरम्मत, रंगरोगन के साथ बाउंड्रीवॉल का निर्माण हो गया। इस काम पर राज्य सरकार ने 25 करोड़ रुपए खर्च किए। 

चुनाव आयोग को मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय द्वारा भेजी रिपोर्ट में बताया गया कि दूरदराज के क्षेत्रों में मतदान केंद्र प्राथमिक स्कूलों में बनाए गए थे। यहां बिजली के अस्थायी कनेक्शन थे। मतदान की जरूरतों को देखते हुए मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय ने स्थायी बिजली कनेक्शन का इंतजाम करवा दिया। इसमें झाबुआ, रतलाम, बैतूल, भिंड सहित अन्य जिलों के क्षेत्र हैं। यहां पहली बार केंद्र बनाए गए थे। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीएल कांताराव ने बताया, स्कूल शिक्षा और ऊर्जा विभाग ने इस काम पर 25 करोड़ रुपए व्यय किए।