बंद ऑफिस का बिल आया तो एसपी ने बैठाई जांच, अफसरों में हड़कंप

electrict-bill-came-of-closed-office-sp-order-to-investigation-

भोपाल। प्रदेश भर में बिजली के बिल ज्यादा आने के मामले सामने आ रहे हैं, लेकिन पीडि़तों की कोई सुनवाई नहीं हो रही है। लेकिन अशोकनगर जिले में बिल ज्यादा आने पर एसपी ने बिलों की जांच के लिए एक कमेटी का ही गठन कर दिया है। यह कमेटी जांच करेगी कि बिल ज्यादा क्यों आ रहे हैं। या फिर कंपनी द्वारा जानबूझकर बिल बढ़ाकर भेजे जा रहे हैं। एसपी के इस कदम से बिजली कंपनी के अफसरों में हड़कंप मचा हुआ है। एसपी ने अपने कार्यालय में बंद पड़े ऑफिस और थानों के बढ़े हुए बिल आने पर जांच कमेटी का गठन किया है। 

अशोकनगर एसपी पंकज कुमावत ने बताया कि पुराने बकाया बिलों का पिछले महीने ही बिजली कंपनी को 25 लाख रुपए का भुगतान किया था, लेकिन इस महीने अकेले देहात थाने का ही बिजली बिल 15 हजार रुपए आया। वहीं पुराने एसपी ऑफिस में ईवीएम रखी हैं और ऑफिस बंद रहता है, लेकिन बंद ऑफिस का ही बिजली बिल 6 हजार रुपए आया। बिजली बिल आखिर कैसे बढ़ रहे हैं और क्या बिजली कंपनी राशि बढ़ाकर बिल भेज रही है। इसकी जांच करने के लिए एसपी पंकज कुमावत ने एएसपी सुनील शिवहरे की अध्यक्षता में आरआई, हैड़ क्लर्क और कंटनजेंसी क्लर्क की टीम बनाई है और पुलिस विभाग की यह टीम 12 पुलिस थानों, आठ चौकियों, एसपी ऑफिस, पुलिस लाइन, पुराना एसपी ऑफिस, तीन एसडीओपी कार्यालय, अजाक थाना, विशेष शाखा, पुलिस कंट्रोल रूम और सीसीटीवी कैमरों के बिजली बिलों की जांच कराएगी। साथ ही टीम बिजली कंपनी के अधिकारियों से भी मामले पर बात करेगी।

आम बिजली उपभोक्ता भी बढ़ हुए बिजली बिलों से परेशान हैं और बढ़ी हुई राशि के बिलों की जांच के लिए बिजली कंपनी ने शिविर लगाया तो उसमें 12 लोगों ने शिकायत की थी, जिनमें से 7 लोगों के बिलों में खपत से कई गुना ज्यादा राशि दर्ज मिली थी। बाद में बिजली कंपनी को उन बिलों को सुधारना पड़ा था। वहीं जिले में अन्य कई उपभोक्ता भी कंपनी पर मनमाने बिल भेजने का आरोप लगा रहे हैं।