प्रदेश के लाखों कर्मचारियों को सरकार की सौगात, इनको मिलेगा लाभ

भोपाल। मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने राज्य के कर्मचारियों और पेंशनरों को बड़ी सौगात दी है| शनिवार को मंत्रालय में आयोजित साल की पहली कैबिनेट बैठक ने ‘मुख्यमंत्री कर्मचारी स्वास्थ्य बीमा योजना’ को मंजूरी दे दी है। योजना से लगभग 12 लाख 55 हजार कर्मचारी/अधिकारी लाभांवित होंगे। योजना एक अप्रैल 2020 से लागू की जा रही है।    

इस योजना का लाभ प्रदेश के सभी नियमित शासकीय कर्मचारी, सभी संविदा कर्मचारी, शिक्षक संवर्ग, सेवानिवृत्त कर्मचारी, नगर सैनिक, आकस्मिक निधि से वेतन पाने वाले पूर्ण कालिक कर्मचारियों और राज्य की स्वशासी संस्थाओं में कार्यरत कर्मचारियों को मिलेगा। इसके अलावा निगम/मण्डलों में कार्यरत कर्मचारियों एवं अखिल भारतीय सेवा के अधिकारियों के लिए योजना वैकल्पिक होगी।

कर्मचारियों की बहुप्रतीक्षित स्वास्थ्य बीमा योजना को लेकर स्वास्थ्य मंत्री तुलसीराम सिलावट ने बताया कि अब तय प्रीमियम (किस्त) देकर कर्मचारी और पेंशनर्स योजना का लाभ ले सकेंगे। वे सामान्य बीमारी की स्थिति में पांच लाख और गंभीर बीमारी पर 10 लाख रुपए तक का इलाज निजी अस्पतालों में करा सकेंगे। 10 लाख से अधिक राशि की जरूरत होने पर स्टेट मेडिकल बोर्ड की सिफारिश लगेगी। उन्होंने बताया मंत्री ने बताया कि अभी तक पेंशनर्स को सालाना 288 रुपए इलाज के लिए दिए जाते थे। अब वे 10 हजार रुपए तक का इलाज करा सकेंगे।