खजाना खाली, वादों को पूरा करने शिवराज की कई योजनाएं बंद करने की तैयारी में कांग्रेस

empty-treasury

भोपाल

विभाग के बंटवारे के बाद कमलनाथ सरकार के सभी मंत्री एक्शन में आ गए हैं। अपने अपने विभागों से संबंधित बैठके ले रहे है और आगे की कार्यों की रणनीति बनाने में जुट गए है। ऐसे में सबसे बड़ी चुनौती वित्त मंत्री तरुण भनोट के सामने है, चुंकी वर्तमान में खजाना खाली है और सरकार को कई वादे पूरे करना है।हालांकि वादों को सामने रख वित्त मंत्री तरूण भनोट ने शिवराज सरकार की कई योजनाओं को बंद करने के संकेत भी दे दिए है।उन्होंने अपने बयान से साफ कर दिया है कि  भाजपा के शासनकाल में शुरू की गई कई योजनाएं बंद की जाएगी।

दरअसल, आज विभाग का पदभार संभालने से पहले वित्तमंत्री तरुण भनोट ने मीडिया से चर्चा के दौरान कहा कि प्रदेश मे चल रही सभी योजनाओ की समीक्षा कर कुछ योजनाओं को बंद किया जा सकता हैं। इसके लिए अधिकारियों को उन योजनाओं को चिन्हित करने गया है, जिनका लाभ लोगों को नहीं मिल रहा है, इन्हें जल्द ही बंद किया जाएगा। 

उन्होंने कहा कि प्रदेश का खजाना खाली है, वित्त की कमी है, लेकिन फिर भी कांग्रेस जनता से किए अपने सारे वादे पूरे करेगी। भाजपा सरकार के समय राजनीतिक रूप से अपने कार्यकर्ताओं को लाभ देने के लिए इस तरह की योजनाएं शुरू की गई थी। एक महीने के भीतर इन योजनाओं को बंद कर दिया जाएगा । साथ ही उन्होंने कहा कि प्रदेश मे युवाओं को रोजगार के नये अवसर दिये जाएंगे। निवेश के लिये बडी कम्पनियों को आमंत्रण किया जाएगा मुख्यमंत्री कमलनाथ को देते बधाई देते हुए भनोट ने कहा मुझ पर सीएम ने विश्वास जताया है जो महात्वपूर्ण विभाग दिया है। 

बता दे कि वर्तमान में मध्यप्रदेश पर 1,87,636.39 करोड़ का कर्जा है। चुंकी वित्त विभाग बड़ी जिम्मेदारी है, जो कमलनाथ के खास माने जाने वाले मंत्री तरुण भनोट को दी गई है, ऐसे में भनोट के सामने विभाग को संभालना और उसका संचालन करना बड़ी चुनौती होगी।