भोपाल, डेस्क रिपोर्ट
उपचुनाव (Byelection) से पहले कांग्रेस (Congress) छोड़ भाजपा (BJP) में गए राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के ग्वालियर में मेगा शो से प्रदेश की सियासत गरमाई हुई है| दो दिन में 35 हजार से अधिक की संख्या में कांग्रेसियों को भाजपा की सदस्यता दिलाने के भाजपा के दावे ने जहां कांग्रेस को परेशान कर रखा है| वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के चौहान (Shivraj Singh Chauhan) के ‘सिंधिया के कारण कांग्रेस सरकार बनने’ वाले बयान पर सियासी घमासान छिड़ गया है|

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर पलटवार किया है| उन्होंने कहा ‘हमारी सरकार तो उनके कारण नहीं बनी, लेकिन भाजपा की प्रदेश में सरकार तो उन्ही के कारण ही बनी है। फिर भी भाजपा ने उन्हें मुख्यमंत्री नहीं बनाया, उनके साथ बड़ा धोखा किया है, भाजपा को उन्हें ही मुख्यमंत्री बनाना चाहिये’।कमलनाथ के ट्वीट ने अब सियासी गलियारों में नई चर्चा छेड़ दी है|

कमलनाथ ने सीएम शिवराज के पर पलटवार करते हुए ट्वीट कर लिखा- ‘हमारी पार्टी में विधायक दल के नेता का चयन विधायकों की राय व पसंद के आधार पर सर्वसम्मति से किया गया था, उसके लिये निर्धारित प्रक्रिया का पालन भी किया गया था। हमारे यहाँ चुनाव पूर्व संगठन की मज़बूती के लिये योगदान और सरकार बनाने में भी योगदान किसका कितना रहा है , यह भी कार्यकर्ताओं से लेकर सभी को पता है , कौन यहाँ सिर्फ़ पर्यटन के लिये आता था , यह भी किसी से छुपा हुआ नहीं है’। बता दें कि शिवराज ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए कहा था कि ‘प्रदेश अध्यक्ष बनेंगे तो कमलनाथ, नेता प्रतिपक्ष बनेंगे तो कमलनाथ, मुख्यमंत्री की कुर्सी पर भी बैठेंगे कमलनाथ, युवाओं का नेता होगा उनका बेटा नकुलनाथ और बाकी कांग्रेस हो गई अनाथ’|

सिंधिया के साथ भाजपा ने धोखा किया..सीएम नहीं बनाया
पूर्व सीएम ने कहा जो भाजपा नेतागण कह रहे है कि प्रदेश में कांग्रेस सरकार ज्योतिरादित्य सिंधिया के कारण बनी , वो उनके ख़ुद के चुनाव का परिणाम ही एक बार फिर से देख ले। हमारी सरकार तो उनके कारण नहीं बनी लेकिन भाजपा की प्रदेश में सरकार तो उन्ही के कारण ही बनी है। ना वे जनता के विश्वास का सौदा करते, ना लाखों कांग्रेस कार्यकर्ताओं का विश्वास तोड़ते तो जनादेश नहीं होने के बाद भी भाजपा की प्रदेश में सरकार कैसे बनती ? उसके बाद भी भाजपा ने उन्हें मुख्यमंत्री नहीं बनाया , शिवराज ख़ुद बन बैठे, जबकि जनता तो भाजपा व शिवराज को चुनाव में नकार चुकी थी। भाजपा ने उनके साथ बड़ा धोखा किया है, भाजपा को उन्हें ही मुख्यमंत्री बनाना चाहिये।

कमलनाथ का तंज, 'भाजपा ने सिंधिया से धोखा किया, उन्हें ही मुख्यमंत्री बनाना चाहिए'