घड़ियाल को बचाने टीम का रेस्क्यू कामयाब, एक हफ्ते से मुंह में फंसा था जाल

expert-team-save-ghadiyal-from-bhopal-kaliyasot-dam

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के कलियासोत डैम में एक हफ्त से वन अफसरों को छका रहा घड़ियाल आखिर कार गुरूवार को पकड़ में आ गया। पिछले एक हफ्त से घड़ियाल के मुंह में जाल फंस गया था जिससे उसे काफी समस्या हो रही थी। वहीं, विशेषज्ञों के अनुसार यह जगह घड़ियाल के लिए ठीक नहीं थी। घड़ियाल रेतीली नदियों में रहने वाला जीव है, इसलिए दोनों घड़ियालों को यहां से निकाल कर उनके उचित वातावरण में शिफ्ट करने की मशक्कत पिछले दस दिन से की जा रही थी। आखिरकार आज रेस्क्यू टीम को कामयाबी मिल गई। इस घड़ियाल के मुंह में मछली पकड़ने का जाल फंस गया था, जिस कारण उसका मुंह तक नहीं खुल पा रहा था।

जानकारी के अनुसार गुरूवार को कलियासोत डैम पहुंचकर एक्सपर्ट की टीम ने रेस्क्यू शुरू किया। काफी देर के बाद घड़ियाल को पकड़ कर उसके मुंह में फंसा जाल निकाला गया। इस कामयाबी के पीछे निगम और एक्सपर्ट की टीम को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी।  इसके बाद सभी ने घड़ियाल की जान बचाने पर एक-दूसरे को बधाई दी। रेस्क्यू टीम में शामिल सदस्यों के चेहरे भी खिल गए।

एक सप्ताह पहले इस भारी-भरकम घड़ियाल के मुंह में मछली पकड़ने का जाल फंस गया था। किसी ने वन विभाग को खबर की। एक सप्ताह से कलियासोत डैम में वन विहार समेत वाइल्डलाइफ और फारेस्ट के अधिकारियों की टीम इसे पकड़ने की कोशिश करती रहे, लेकिन वो किसी भी इंसान को नजदीक देख पानी में चले जाता था। एक बार पकड़ में भी आया, लेकिन वो फारेस्ट के लोगों के हाथों से फिसलकर फिर से पानी में चले गया। इसके बाद से वो और भी दूरी बनाने लगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here