IT Raid: मंत्री अरविन्द भदौरिया के पक्ष मे बड़ा बयान,पूर्व विधायक को चेतावनी

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट
दिल्ली से आई इनकम टैक्स की टीम की छापामार कार्रवाई से सुर्ख़ियों में आये फेथ कंपनी (Faith Company) के मालिक राघवेंद्र सिंह तोमर (Raghvendra Singh Tomar) शनिवार को फेसबुक के माध्यम से सामने आये| इस दौरान आयकर करवाई को लेकर किसी भी तरह की टिप्पणी करने से इंकार किया| वहीं राजनीतिक रिश्तों को लेकर उठाये जा रहे सवालों पर तोमर ने पूर्व विधायक हेमंत कटारे (Hemant Katare) पर निशाना साधा और कहा कि बेहतर होगा मर्यादा में रहें।

आयकर करवाई के बाद राघवेंद्र सिंह तोमर ने फेसबुक लाइव (FB Live) पर आकर कहा कि हमें रिश्ते निभाना आता है। जिनके साथ हमारे संबंध हैं, उसे स्वीकार करने में मुझे कोई परेशानी नहीं है| उन्होंने मंत्री अरविन्द भदौरिया के साथ रिश्तों को लेकर कटारे पर निशाना साधते हुए कहा छापों के बीच सोशल मीडिया में हेमंत कटारे समेत कुछ लोग यह रिश्ता क्या कहलाता है चला रहे थे, वह उनसे कहना चाहते हैं कि हमें रिश्ते निभाना आता है। जिन लोगों के रिश्ते पैन ड्राइव और सीडी में मिले थे, वे कैसे इस तरह का आरोप लगा सकते हैं। बेहतर होगा कि हेमंत कटारे मर्यादा में रहें। राघवेंद्र सिंह तोमर ने कहा ‘यह रिश्ता क्या कहलाता है’ को टारगेट मत बनाओ, अगर जनता जवाब मांगने लगेगी तो कटारे जवाब देना भूल जाओगे, मेने जिंदगी में कभी कोई रिश्ता छुपाया नहीं, आपने छुपाया है, जिसको लेकर कई कहानियां चली और कहीं का नहीं छोड़ा, लोगों को मरना पड़ा|

बता दें कि हेमंत कटारे भिंड जिले की अटेर सीट से कांग्रेस विधायक रहे हैं। 2018 में भाजपा के अरविंद भदौरिया ने कटारे को चुनाव हराया है। कटारे उस समय सुर्ख़ियों में आ गए थे, जब माखन लाल यूनिवर्सिटी की एक छात्रा ने उन पर रेप का आरोप लगाया था| कई दिनों तक यह हाई प्रोफाइल मामला सुर्ख़ियों में रहा| आरोप लगाने वाली छात्रा ने बाद में आत्महत्या कर ली थी|

राघवेंद्र सिंह तोमर आयकर छापों के बाद अपने घर से क्रिकेट एकेडमी पहुंचे थे। यहां पर वे फेसबुक लाइव के जरिए दोस्तों से जुड़े। राघवेंद्र ने कहा कि वे छापों के बारे में कुछ नहीं कहना चाहते। दो दिन चली इस कार्रवाई में आयकर विभाग के पास सारे दस्तावेज हैं। वह जांच करेंगे, जल्द सच सामने आ जाएगा।

Raghvendra Singh Tomar यांनी वर पोस्ट केले शुक्रवार, २१ ऑगस्ट, २०२०