कोरोना के नाम पर विधानसभा का सत्र बढाने का फेक ट्वीट, मामला दर्ज

संजय दीक्षित. मध्य प्रदेश के सियासी ड्रामे के बीच विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति के ट्विटर अकाउंट से खिलवाड़ करने का मामला सामने आया है। हाल ही में 16 मार्च 2020 को बजट सत्र प्रारंभ होने जा रहा है इसी को लेकर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने गवर्नर लालजी टंडन से मुलाकात भी की है। उसी के कुछ ही समय बाद सोशल मीडिया पर विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति के नाम से फेक न्यूज़ सामने आ रहे है ।

दरअसल बताया जा रहा है कि एमपी विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक आदेश जारी किया है जिसमें लिखा है कि कोरोना वायरस के चलते विधानसभा सत्र को 26 मार्च तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। यह ट्वीट कुछ ही समय में सोशल मीडिया पर बहुत तेजी से फैलने लगी। इस के फैलने के बाद यह भी कहा जा रहा था कि कमलनाथ सरकार की जीवन रेखा 10 दिनों के लिए बढ़ गई है।

एक तरफ ट्विटर अकाउंट को लेकर सोशल मीडिया पर हड़कंप मच गया था उसके कुछ ही समय बाद विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति ने कहा कि यह ट्वीट फेक है और टि्वटर अकाउंट भी फेक है। उन्होंने साफ कहा कि किसी ने मेरे नाम का फेक अकाउंट बना रखा है। मैंने इस पूरे मामले कि शिकायत साइबर क्राइम में दर्ज करवा दी है। साइबर क्राइम इस पूरे मामले की जांच-पड़ताल में जुट गई है। उन्होंने यहां तक कहा कि विधानसभा अध्यक्ष लिखित आदेश जारी करता है तथा उसमें विधानसभा सचिव के हस्ताक्षर भी होते हैं।