एमपी के इन संसदीय क्षेत्रों में फोर्स तैनात, चुनाव आयोग ने भेजी 13 कंपनियां

Forces-begin-area-domination-exercise-in-six-constituencies

भोपाल। लोकसभा चुनाव के लिए चुनाव आयोग तैयारियों में जुट गया है। मध्य प्रदेश के संवेदनशील इलाकों में चुनाव आयोग के निर्देश पर 13 कंपनियां तैनात की गईं हैं। ये जानकारी कानून व्यवस्था आईजी मकरंद दाउसकर ने दी। उन्होंंने कहा कि प्रदेश में पहले चरण के के लिए मतदान 29 अप्रैल को होना है। उससे पहले ही छह संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों में चुनाव पूर्व क्षेत्र में फोर्सेज को भेज दिया गया है। बता दें प्रदेश में चार चरणों में लोकसभा चुनाव होंगे। पहले चरण में छह लोकसभा क्षेत्रों में वोट डाले जाएंगे। इसमें सीधी, शहडोल, जबलपुर, मंडला, बालाघाट और छि��दवाड़ा शामिल है। 

आईजी मकरंद ने बताया कि चुनाव आोग ने 13 कंपनियों को फिलहाल भेजा है अभी 6 कंपनियां और फोर्स की भेजी जाना हैं। इन कंपनियों ने चुनाव पूर्व क्षेत्र का वर्चस्व शुरू कर दिया है और वे मतदान दलों को सुरक्षा और सहायता प्रदान करने जा रही हैं। राज्य की पुलिस भी अवैध शराब, हथियारों के खिलाफ अभियान चला रही है और अंतर-राज्यीय सीमाओं को सुरक्षित कर रही है।

सोमवार तक पुलिस ने 3.87 लाख लीटर अवैध शराब जब्त की है। यही नहीं पुलिस ने 1150 अवैध हथियार भी जब्त किए हैं। वहीं, पुलिस ने 692 नाकों में से 378 अंतर-राज्यीय चेक पोस्टों को भी सुरक्षित कर लिया है जो पड़ोसी राज्यों से जुड़े हैं। नक्सल प्रभावित बालाघाट जिले में सीपीएमएफ का दल भी भेज दिया हया है। इस जिले में नक्सलियों ने चुनाव के बहिष्कार करने की चेतावनी दी है। हाल ही में प्रदेश से लगे अन्य राज्यों के डीजीपी से भी इस सिलसिले में सुरक्षा को लेकर बैठक की जा चुकी है।