भाजपा के पूर्व विधायक का निधन, पार्टी में शोक की लहर

बैतूल।भाजपा नेता और बैतूल से पूर्व विधायक भगवत सिंह पटेल का निधन हो गया है। 84 वर्ष के भगवत पटेल लंबे समय से बीमार चल रहे थे। शनिवार दोपहर उन्होंने एक निजी अस्पताल में इलाज के दौरान अंतिम सांस ली। उनके निधन से पार्टी में शोक की लहर है।

पूर्व विधायक भगवत सिंह पटेल का अंतिम संस्कार रविवार को प्रात: 11 बजे उनके गृहग्राम चुडिय़ा में किया जाएगा।इसके पहले निधन के बाद उनके पार्थिव देह को जिला भाजपा कार्यालय में दर्शनार्थ के लिए रखा गया था,जहां भाजपा के प्रदेश कोषाध्यक्ष हेमंत खंडेलवाल, सांसद डीडी उइके समेत सैकड़ों नेताओं और कार्यकर्ताओं ने उन्हें आज विजय भवन पहुंचकर श्रद्धा सुमन अर्पित किए। तेज़ तर्रार नेता भगवत सिंह पटेल जनता की समस्याओं के समाधान के लिए अक्सर अधिकारियों से भिड़ जाते थे, उनके निधन पर राजनैतिक क्षेत्र के अलावा, सामाजिक क्षेत्र में भी शोक की लहर है।

इस मौके पर हेमंत खंडेलवाल ने कहा कि पटेल के निधन से भाजपा की राजनीति में आई रिक्तता को कभी भरा नहीं जा सकेगा। उनसे दृढ़ता और सामाजिक सरोकार सीखने को मिला है।वही भाजपा के दिग्गज नेता कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट कर लिोखा है कि बैतूल के पूर्व भाजपा विधायक श्री भगवत पटेल जी के निधन की जानकारी मिलने पर दुःख हुआ। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणों दे और परिवार को यह दुःख सहने की शक्ति दे।

ऐसा रहा राजनैतिक करियर
जनसंघ से राजनीति में सक्रिय हुए भगवत पटेल 1977 में जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष बने थे। इसके बाद वे 1980 में भाजपा के गठन के समय पहले जिलाध्यक्ष बने। 1990 से 1993 तक पटवा सरकार में बैतूल विधानसभा क्षेत्र के विधायक भी रहे। राजनीति में उनकी अच्छी पकड़ थी। वे भाजपा के कद्दावर नेताओ में गिने जाते थे। भगवत पटेल 1990 ने भाजपा उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ा था और जीत दर्ज की थी। लेकिन, दिसंबर 1992 में राष्ट्रपति द्वारा विधानसभा भंग किए जाने के कारण वे अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर सके थे।