भोपाल।

धार में भूख हड़ताल करने वाले भाजपा के पूर्व विधायक कालूसिंह ठाकुर सोमवार को भोपाल में मंत्रालय के सामने अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठ गए। जैसे ही पुलिस को इसकी सूचना मिली उन्होंने ठाकुर को उठा लिया। पुलिस का कहना था कि यहां किसी को भी धरना देने की अनुमित नही है।

कालूसिंह ठाकुर का आरोप है कि धरमपुरी के कांग्रेस विधायक पांचीलाल मेढ़ा उनके द्वारा विधायक निधि से लगाए गए बस स्टेंड के यात्री प्रतिक्षालय को हटाकर दूसरी जगह लगा रहे हैं। ठाकुर ने कहा कि प्रशासन द्वारा प्रतीक्षालयों पर गलत कार्रवाई की है। दो प्रतीक्षालय गलत थे। उन्हें हटाने में कोई दिक्कत नहीं थी। जबकि दो सही थे। उन्हें भी हटाया गया। ठाकुर का कहना है कि दो प्रतिक्षालय उन्होंने निजी खर्चे से बनाए हैं। उसका बिल पेश करेंगे। इतना ही नही ठाकुर का आरोप है कि मेढ़ा उनके द्वारा विधायक निधि से क्षेत्र में चलाए जा रहे टेंकरों पर से उनका नाम हटवा कर अपना नाम लिखवा रहे हैं और उन्हें विधानसभा क्षेत्र से बाहर चला रहे हैं।इन्ही सब कारणों क चलते ठाकुर सोमवार को मंत्रालय के बाहर धरने पर बैठे। वे दिन भर तो वहां बैनर लगा कर बैठे रहे, लेकिन शाम होने पर पुलिस ने उन्हें वहां से उठा दिया। ठाकुर को पुलिस ने बताया कि यहां किसी को भी धरना देने की अनुमति नहीं है।

इससे पहले ठाकुर बीते सप्ताह इस मामले में धार कलेक्ट्रेट पर धरना देने के साथ ही इच्छा मृत्यु की मांग भी कर चुके हैं। हालांकि यहां उन्होंने कलेक्टर के आश्वासन के बाद धरना समाप्त कर दिया था।