Former-Chief-Minister-Shivraj-Singh-praised-CM-Kamal-Nath-for-his-statement-on-loksabha

भोपाल| मुख्यमंत्री कमलनाथ के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को बहुमत ना मिलने को लेकर किए गए दावे के बाद सियासत गर्मा गई है। जहां कांग्रेस के अंदरखानों में हड़कंप की स्थिति है वही बीजेपी जमकर चुटकी ले रही है। इसी बीच मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज ने मुख्यमंत्री कमलनाथ की प्रशंसा की है। शिवराज ने कहा कि मैं कमलनाथ की प्रशंसा हु जो उन्होंने लोकसभा चुनाव में अपनी हार स्वीकार कर ली है। नाथ के इस बयान के बाद  पार्टी में खलबली मची हुई है। चुंकी अब तक कांग्रेस नेता पूर्ण बहुमत की बात कर रहे थे, लेकिन नाथ ने चुनाव से पहले पूर्ण बहुमत की बात ना कहके सबकों सकते में डाल दिया है| 

दरअसल, आज मीडिया से चर्चा के दौरान शिवराज ने कमलनाथ द्वारा किए गए दावे को लेकर कहा कि मैं मुख्यमंत्री कमलनाथ की प्रशंसा करता हूं,कि उन्होंने सच स्वीकर कर लिया है कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की सरकार नही बन रही। एक तरह से उन्होंने यह भी स्वीकार कर लिया है कि राहुल गांधी के पीएम बनने की संभावनाएं नही है। मैं उनका धन्यवाद करता हूँ, जो उन्होंने लोकसभा चुनाव से पहले ही अपनी हार स्वीकार कर ली है।

वही शिवराज ने एक बार फिर राहुल गांधी को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि देश त्रिशंकु सरकार नही चाहता, मजबूत सरकार चाहता है। पीएम मोदी बने, एक मजबूत सरकार बने, कांग्रेस मुकाबले में कही नही है। पूरे देश में कांग्रेस 100 -125  सीटों पर लड़ रही है बाकी सीटों पर अलग अलग पार्टियां है ,जो गठबंधन से लड़ रही है जिन्हें में ठगबंधन कहता हूं। कांग्रेस चुनाव के पहले ही पराजय स्वीकार कर चुकी है, कमलनाथ ने सच तो स्वीकार किया, अब ऱाहुल गांधी को स्वीकार करना बाकी है।

प्रदेश का बंटाधार करने वाले विजन दे रहे 

शिवराज ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और भोपाल लोकसभा प्रत्याशी दिग्विजय सिंह के भोपाल के विकास पर दिए गए विजन पर भी सवाल उठाए। शिवराज ने कहा है कि इधर कमलनाथ बहुमत नही मिलने का दावा कर रहे है वही दिग्विजय विजन पेश कर रहे है, ये दोनों विरोधाभास है। शिवराज ने कहा उनका विजन तो गड्ढे वाली सड़कें, बीमारू प्रदेश और अंधेर नगरी है।  सूखे खेत, गड्ढे वाली सड़क, तबाह किसान उनका विजन है, उनका विजन एक ही था बंटाधार।सीएम रहते तबाही का प्रतीक बने दिग्विजय और अब विजन दे रहे है।