विंध्य में कांग्रेस को मिली मजबूती, यह पूर्व IPS अफसर पार्टी में शामिल

former-ips-officer-join-congress-in-bhopal-pcc

भोपाल/सीधी। लोकसभा चुनाव में बीजेपी से लोहा लेने के लिए कांग्रेस पूरी तरह से तैयारियों में जुट गई है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भाजपा के वरृष्ट नेता और पूर्व मंत्री कुसमरिया के कांग्रेस में शामिल होने के बाद बयान दिया था कि यह तो ट्रेलर है। उनके कहे मुताबिक अब तस्वीर हल्के हल्के साफ होने लगी है। विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को सबसे अधिक नुकसान विंध्य क्षेत्र में हुआ। विंध्य के सतना में सोमवार को कांग्रेस को बड़ी सफलता मिली है। यहां रिटायर्ड आईपीएस अफसर रामलाल प्रजापति ने कांग्रेस की सदस्यता ले ली। इससे पहले पूर्व आईएएस शशि कर्णावत और पूर्व आईएफएस आजाद डबास भी कांग्रेस का दामन थाम चुके हैं| 

राष्ट्रपति पदक से सम्मानित रामलाल प्रजापति ने लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस का दामन थाम लिया है। वह पुलिस सेवा में कई महत्वपूर्ण पदों पर रहे हैं। उमरिया,विदिशा बैतूल के एसपी के साथ साथ भोपाल ग्रामीण के आईजी जैसे महत्वपूर्ण पदों पर रह चुके हैं।  रामलाल प्रजापति जिले की अमरपाटन विधानसभा के रामनगर क्षेत्र के रहने वाले हैं। पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह एवं कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव व प्रदेश प्रभारी दीपक बाबरिया की मौजूदगी में भोपाल स्थित पार्टी कार्यालय में उन्होंने सदस्यता ग्रहण की। इस दौरान प्रदेश सरकार के मंत्री गोविंद सिंह, हुकुम सिंह कराड़ा, प्रदेश महामंत्री डॉ महेंद्र सिंह चौहान, पीसीसी के कार्यवाहक अध्यक्ष रामनिवास रावत, सुरेंद्र चौधरी मौजूद रहे। 

गौरतलब है कि इससे पहले शिवराज सरकार में कृषि मंत्री रहे और संघ के खांटी स्वयंसेवक रामकृष्ण कुसमरिया कांग्रेस में शामिल हुए थे। भोपाल का जंबूरी मैदान इसका गवाह बना। पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के सामने उन्होंने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की थी। वे विधानसभा चुनाव में भाजपा से बगावत कर निर्दलीय चुनाव लड़े थे| वहीं विधानसभा चुनाव में बीजेपी के कद्दावर नेता सरताज सिंह भी कांग्रेस में आये हैं| विधान सभा चुनाव के दौरान कई पूर्व विधायक और विधायक समेत कई बड़े नेताओं पार्टी बदली थी| अब लोकसभा चुनाव से पहले एक बार नेताओं का पार्टी बदलने का सिलसिला शुरू हो सकता है|