MP: अब पूर्व मंत्री ने ठोकी ताल, इस सीट से चुनाव लड़ने की जताई इच्छा

Former-minister-Archana-Chitnis-want-to-contest-Lok-Sabha-elections

भोपाल।

लोकसभा चुनाव से भाजपा  में जमकर सीटों के लिए घमासान मना हुआ है। दावेदारों की लाइन लगी हुई है। हर कोई अपनी ताल ठोकने में लगा है।पुरुष उम्मीदवारों के अलावा महिला उम्मीदवार भी पीछे नही हट रही है। अब शिवराज सरकार में कैबिनेट मंत्री रही अर्चना चिटनीस ने दावेदारी पेश की है। इसके लिए वह शनिवार को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और चुनाव समिति के सदस्य शिवराज सिंह चौहान से भी मुलाकात करने उनके बंगले पहुंची थी।इसके साथ ही उन्होंने  प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा समेत बीजेपी कार्यालय में तमाम बड़े नेताओं से भी इस बारे में चर्चा की। विधानसभा चुनाव में हार का सामना कर चुकीं अर्चना चिटनिस अब खंडवा लोकसभा सीट से टिकट की दावेदारी कर रही हैं।

दरअसल, शनिवार को राजधानी में नेताओं के बंगलों से लेकर प्रदेश भाजपा कार्यालय तक टिकट के दावेदारों का जमघट लगा रहा। पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान के बंगले पर सबसे ज्यादा गहमा-गहमी रही। शिवराज केंद्रीय चुनाव समिति के सदस्य भी हैं और उन्हें दोपहर में दिल्ली रवाना होना था। यह खबर लगते ही सुबह 10 बजे से ही शिवराज के बंगले पर नेताओंं का जमावड़ा लग गया। दावेदारी करने वालों में खंडवा से अर्चना चिटनीस, भोपाल से आलोक शर्मा और जितेंद्र डागा, सागर से लता वानखेड़े और बालाघाट से लता एलकर ने शिवराज से अकले में मिलकर अपनी बात रखी। उधर, प्रदेश कार्यालय में भी दावेदारों की लाइन लगी रही। कुछ लोग प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह से मिलकर अपना बायोडाटा सौंपते नजर आए तो कुछ संगठन महामंत्री सुहास भगत से मिले।

अपनी दावेदारी को लेकर अर्चना चिटनिस ने मीडिया से चर्चा के दौरान कहा कि  मैने पार्टी को अपनी इच्छा बता दी है, चुनाव लड़ने के बारे में अंतिम फैसला पार्टी करेगी। वही उन्होंने कहा कि खंडवा से जो भी उम्मीदवार होगा उसके लिए सभी नेता मिलकर काम करेंगे।हालांकि वह बीते कई दिनों से खंडवा में अपनी सक्रियता बढ़ाए हुए है। हाल में उन्होंने कई दौरे भी किए है। बता दे कि  विधानसभा चुनाव में हार का सामना कर चुकीं अर्चना चिटनिस अब खंडवा लोकसभा सीट से टिकट की दावेदारी कर रही हैं। इस सीट से फिलहाल बीजेपी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नंद कुमार सिंह चौहान सांसद हैं।वही चौहान अपनी सीट को बचाने के लिए एड़ी से चोटी तक का जोर लगा रहे है।

प्रदेश चुनाव समिति की बैठक 19 मार्च को

भाजपा प्रदेश चुनाव समिति की बैठक 19 मार्च को पार्टी मुख्यालय में रखी गई है। इसमें प्रदेश की सभी 29 सीटों पर उम्मीदवारों के पैनल तय किए जाएंगे। उम्मीदवारों का फैसला दिल्ली में केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में होगा। अधिकांश सीटों पर दो से ज्यादा दावेदार हैं। करीब डेढ़ दर्जन सीटों पर मौजूदा सांसद को हटाकर नए चेहरे को टिकट देने की सिफारिश भी सामने आई है।