पूर्व मंत्री ने की रीवा हादसे में मृतकों को 10-10 लाख रुपए मुआवजे की मांग

भोपाल। मध्य प्रदेश के रीवा जिले में हुए भीषण सडक़ हादसे में 10 लोगों की मौत हो गई। हादसे पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दुख जताते हुए प्रशासन को समुचित ईलाज एवं मदद के निर्देश दिए है। वहीं पूर्व मंत्री और भाजपा विधायक नरोत्तम मिश्रा ने घटना को दुखद बताते हुए सरकार से मृतकों के परिजनों को 10- 10 लाख रुपए का मुआवजा देने की मांग की है। 

गुरुवार को मीडिया से बातचीत करते हुए पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने रीवा बस दुर्घटना पर खेद जताते हुए कहा कि हादसा बेहद दु:खद है। उन्होंने सरकार से हादसे में मृतकों को 10- 10 लाख रुपए का मुआवजा देने की मांग की है। इसके अलावा पूर्व मंत्री ने कांग्रेस सरकार के विजन पत्र पर तंज कसते हुए कहा कि पहले सरकार बताए कि जो उसने वादे किए थे क्या वह पूरे हुए। ना बेरोजगारों को रोजगार मिला, ना बेटियों को स्कूटी मिली और ना ही किसानों को अतिवृष्टि की राशि मिली और ना ही कर्ज की राशि मिली। उन्होंने कहा कि यह जुगाड़ की सरकार है और सिर्फ जुगाड़ करने में लगी रहती है। 

प्रदेश में यूरिया और प्याज संकट को लेकर नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि सोसाइटी पर यूरिया नहीं लेकिन ब्लैक में यूरिया भरपूर मिल रहा है। बाजार में 150 किलो प्याज़ भी तो खूब मिल रही है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि कमलनाथ सरकार जमाखोरी को प्रश्रय दे रही है।