पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने बोला प्रदेश सरकार पर हमला, लगाए आरोप

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। प्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष जीतू पटवारी ने भारतीय जनता पार्टी सरकार पर चौतरफा हमले करते हुए एक प्रेस वार्ता में मुख्य मंत्री शिवराज सिंह को स्थापित झुठेला बताया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री रोज झूठ बोलते हैं। अभी प्रधानमंत्री के पास गए थे, उन्हें बताया है कि मध्य प्रदेश को रोजगार प्रदेश बना देंगे। अगर इस इस दावे में जरा सी भी सच्चाई है तो मुख्यमंत्री जी प्रधानमंत्री जी को उन बच्चों की सूची भेंट कर दें जिन्हें रोजगार दिया गया है। हर महीने एक लाख बच्चों को रोजगार देने की घोषणा की थी। दसियों स्वरोजगार योजनाएं घोषित की हैं।

यह भी पढ़ें…. शिवराज मामा का चला बुलडोजर, दर्जनों अतिक्रमण दुकानों को हटाया

जीतू पटवारी ने कहा कि मुख्यमंत्री को बताना चाहिए जो बच्चे अपनी नौकरी छोड़ कर रोजगार स्थापित करने के लालच में आए थे उनके लोन के भुगतान पर रोक क्यों लगा दी। बैंकों को लिखकर क्यों दिया कि सरकार अभी अनुदान नहीं दे सकती, आपके झूठे वादे पर हजारों नौजवानों ने अपना भविष्य बर्बाद कर लिया है। कितने झूठ गिनायें किसने कहा था कि किसानों की आय दुगनी कर देंगे, घर-घर पानी पहुंचाएंगे, बिजली का बिल माफ कर देंगे, मामा खुद कनेक्शन जोड़ देगा, बच्चों को विदेश में पढ़ने भेजेगा, सबको मुकेश अंबानी बनाएगा। शिवराज जी यह तो बताइए कितने बेरोजगार अंबानी बने कितने बेरोजगार अदानी बने, जीतू पटवारी ने कहा कि रोजगार मेला में रोज ठगने वाली कंपनियां रोजगार देने के नाम पर ट्रेनिंग फीस वसूल रही हैं। गणवेश फीस वसूल रही है। कितना शोषण करेंगे आप। प्रधानमंत्री जी कहते थे कि मनरेगा कांग्रेस की असफलताओं का स्मारक है मगर मैं सीना ठोक कर कहता हूं कि भाजपा ने 17 साल में एक पावर प्लांट मात्र लगाया सिंगाजी पावर प्लांट। उसे भी चला नहीं पा रहे हैं, यह सिंगाजी पावर प्लांट शिवराज की असफलता का स्मारक है। कब इसमें 100 प्रतिशत बिजली बनेगी, शिवराज जी बताइए।

यह भी पढ़ें… फायर ब्रांड मंत्री उषा ठाकुर का बयान, कश्मीर फाइल की तर्ज पर दूसरी फाइल तैयार न हो ध्यान रखे

जीतू पटवारी ने कहा यह पहली सरकार है जो बिना बिजली खरीदें निजी बिजली कंपनियों को 12 हजार करोड़ से ज्यादा का भुगतान कर चुकी है। यह मेरे प्रश्न के उत्तर में विधानसभा में बताया गया ।ये घोटाले चल रहे हैं। प्रदेश में शिवराज जी छाती ठोक ठोक कर कहते थे हम सर प्लस स्टेट हैं 23 हजार मेगावाट बिजली बनाते हैं। मैं पूछता हूं मध्य प्रदेश की जरूरत मात्र 12000 मेगावाट है तो सांसे क्यों फूल गई? क्यों 1000 मेगावाट की गांव-गांव कटौती की गई, 44 डिग्री की गर्मी में गांव गांव में किसान बिना पानी के बैठा है। मूंग सूख गई और आप बड़ी-बड़ी बातें कर रहे हैं।