पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा का बड़ा बयान, कमलनाथ सरकार को है केंद्र सरकार का फोबिया

भोपाल। मप्र में यूरिया की कमी और प्याज के बढ़ते दाम को लेकर राजनीतिक दलों के बीच जुबानी जंग जारी है। एक ओर जहां कांग्रेस के मंत्री तमाम परिशानियों के लिए केन्द्र सरकार पर ठिकरा फोड़ रहे है, तो वहीं विपक्ष में बैठी भाजपा भी हर आरोप पर पलटवार करते हुए इसे प्रदेश सरकार की नाकामी बता रही है। अब पूर्व मंत्री और भाजपा विधायक नरोत्तम मिश्रा ने यूरिया और प्याज को लेकर बड़ा बयान दिया है और कहा है कि किसानों के हर मुद्दे पर राज्य सरकार पूरी तरह से फेल हुई है। 

बुधवार को मीडिया से बातचीत करते हुए नरोत्तम मिश्रा ने प्रदेश में हो रही यूरिया की कमी को लेकर कांग्रेस द्वारा केंद्र सरकार पर आरोप लगाने पर कहा कि प्रदेश की कमलनाथ सरकार को केंद्र सरकार का फोबिया हो गया है। उन्होंने सरकार से आग्रह करते हुए कहा कि मेरी जिज्ञासा शांत करें और बताए कि अगर यूरिया की कमी में केंद्र से दिक्कत है और अगर ब्लैक में यूरिया चाहिए तो वह कहां से आ जाता है। उन्होंने कहा कि अगर प्रदेश में यूरिया की कमी है तो काला बजारी में यूरिया कैसे मिल रहा है, यह सरकार को बताना चाहिए। वहीं प्याज के बढ़ते दामों और किल्लत को लेकर पूर्व मंत्री ने कहा कि प्रदेश में प्याज की कमी है तो ब्लैक में कहां से आ रही है। इस सरकार में गरीब को सस्ते दामों में प्याज नहीं मिल रही है, जबकि हमारी सरकार में हमने प्याज की कीमतें कम की थी। किसानों के हर मुद्दे पर राज्य सरकार फेल हुई है। 

प्रदेश के किसानों की कर्ज माफी पर पलटवार करते हुए नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि 10 महीने में 10 किसानों का कर्ज माफ नहीं हुआ। जिनका 200000 रुपए तक का कर्ज माफ हुआ है वह मुझे टीवी पर लाकर दिखा देना उनको माला डालूंगा। भाजपा के संगठन चुनाव को लेकर नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि यह एक प्रक्रिया है। जल्दी नामों का ऐलान होगा। प्रदेश अध्यक्ष के पद के प्रबल दावेदारों में नााम शामिल होने के सवाल का जवाब देते हुए नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष की दौड़ में मैं शामिल नहीं हूं। मैं एक साधारण कार्यकर्ता हूं और उसमें संतुष्ट हूं।