पूर्व मंत्री सज्जन वर्मा की अपील- “एक बार फिर मौका है, कांग्रेस का साथ दें”

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट

मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में शासकीय नौकरी (Government Job) सिर्फ प्रदेश के युवाओं को ही दी जाएगी। मुख्यमंत्री शिवराज (CM Shivraj) ने मंगलवार को इसकी घोषणा कर दी है। इसके लिए अब आवश्यक कानून बनाया जा रहा है। एक ओर जहां भाजपा (BJP) इसे ऐतिहासिक कदम बता रही है वहीं कांग्रेस (Congress) ने इस पर सवाल खड़े कर दिए है।

पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस विधायक सज्जन सिंह वर्मा ने कहा है कि भाजपा सरकार रोज़ नई घोषणाएं और भ्रष्टाचार (Announcement And Corruption) के नए आयाम स्थापित कर रही है। 2014 में मोदी (Modi) ने 2 करोड़ नौकरियां (Jobs) देने की बात कही, लेकिन किसी को रोजगार नहीं मिला। प्रदेश भाजपा भी उनके नक्शेकदम पर चल रही है। मुख्यमंत्री शिवराज के प्रदेश के ही युवाओं 100 फसादी शासकीय नौकरी देने पर सज्जन वर्मा ने कहा, संविधान के अनुसार 100 फीसदी नौकरी प्रदेश के ही लोगों को देना कठिन है। प्रदेश सरकार सपने दिखाकर तोड़ने का काम न करे। उन्होंने कहा इससे युवाओं को बहुत तकलीफ होगी। शिवराज सरकार को पहले कानून बनाना था उसके बाद युवाओं को सपने दिखाने थे।

भाजपा गंजे को कंघी बेच दे
उन्होंने कहा, यह सरकार नौजवानों के सपने चूर-चूर करने वाली सरकार है। युवाओं से अपील करते हुए कहा कि, एक बार फिर मौका है कांग्रेस का साथ दें। भाजपा से ज़रुर बदला लें। उन्होंने कहा हमको भाजपा के झूठ से लड़ना है। भाजपा इतनी कलाकार है कि, गंजे को भी कंघा बेच दें। कमलनाथ (kamalnath) के कल होने वाले युवा संवाद पर कहा की, कमलनाथ कोई घोषणा नहीं करेंगे, हम झूठी घोषणाआएं नहीं काम करने में भरोसा करते हैं। कमलनाथ जी के युवाओं से संवाद का संदर्भ यही है कि हम हमारे नौजवानों को सावधान करना चाहते हैं।

सिंधिया कब उतरेंगे सड़कों पर
कांग्रेस का आरोप है कि शिवराज सरकार में संविधान के मुताबिक अधिक संख्या में मंत्री बनाए गए हैं। सज्जन वर्मा ने कहा कि, सुप्रीम कोर्ट ने सरकार और विधानसभा को नोटिस दिया है, 14 लोग जो विधायक नहीं है उन्हें मंत्री बनाया हुआ है, मंत्रियों का प्रतिशत भी ज्यादा है। उन्होंने कहा, भाजपा संविधान का मख़ौल उड़ा रही है। सज्जन वर्मा ने बीजेपी नेता और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया पर निशाना साधते हुए कहा कि, 6 महीने सिंधिया को ग्वालियर चम्बल की याद नहीं आई। उन्होंने कहा सिंधिया अतिथि विद्वान और शिक्षकों के लिए कब सड़क पर उतरने वाले हैं। कमलनाथ जब केंद्र में मंत्री थी तब सिंधिया ने जो भी काम दिए उसके लिए कराड़ों रुपये दिए गए थे। उन्होंने कहा कमलनाथ सरकार में हर महत्वपूर्ण विभाव सिंधिया के लोगों को दिया था। वहीं उन्होंने कहा कि, कैलाश विजयवर्गीय से मिलने जब सिंधिया इंदौर गए तो विजयवर्गीय वहां से बंगाल भाग गए।

प्रियॉरिटी कॉरिडोर में सरकार करना चाहती है भरष्टाचार
सज्जन वर्मा ने कहा, कुछ विधायकों ने जब मांगपत्र शिवराज के सामने रखा तो बजट बेहद कम दिया गया है। वीडी शर्मा (VD Sharma) को हर घोषणा ऐतेहासिक लगती है, वो इससे नीचे आते ही नहीं हैं। उन्होंने कहा बीजेपी एक ओर विकास की बात करती दूसरी ओर इंदौर में 500 से 600 करोड़ का बजट मैंने स्वीकृत किया था, लेकिन शिवराज इसके खिलाफ हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट गए और स्टे लगवा दिया। पूर्व मंत्री ने इंदौर भोपाल प्रियॉरिटी कॉरिडोर को लेकर निशाना साधते हुए कहा कि, 500 करोड़ हमारे पास है, 500 करोड़ और लेकर हम 2 लाइन बना सकते हैं लेकिन शिवराज सरकार इसमें भ्रष्टाचार करना चाहती है। उन्होंने कहा शिवराज सरकार ने पेंशनर्स बुजुर्गों के लिए दवाई का प्रवधान खत्म कर दिया है।