कनाडा में नौकरी दिलाने के नाम पर छात्रों से लाखों की ठगी, फर्जी वीजा भी थमाया

fraud-with-student-for-job-in-canada

भोपाल। एमपी नगर पुलिस ने एक दो छात्रों की शिकायत पर एक जालसाज को गिरफ्तार किया है। आरोपी एक वीसा कॉन्सुटेंसी का संचालन करता है। ठग ने छिंदवाड़ा और रायपुर के दो छात्रों को कनाडा में स्टूडेंट वीजा और वहीं एक कॉलेज में एडमिशन दिलाने के नाम पर चपत लगाई है। बदमाश ने दोनों छात्रों से तीन लाख चौबीस हजार रूपए की ठगी की है। फरियादियों की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं में प्रकरण दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है। 

एसआई अरविंद कुमार सोनी के अनुसार अर्जन पिता राधेलाल खानवानी (23) निवासी सिंधी कॉलोनी छिंदवाड़ा और तरुण दिवेदी निवासी रायपुर छत्तीसगढ़ दोनों वर्ष 2016 में 12 वीं कक्षा को पास कर चुके हैं। उन्होंने विदेश में पढ़ाई कर नौकरी करने का सपना देखा था। इसके लिए उन्होंने आनलाइन सर्च कर भोपाल के एमपी नगर स्थित रघु वीसा कॉन्सुलटेंसी से संपर्क किया था। यहां दोनों छात्रों की आरोपी तन्मय कुमार परामर्श केंद्र संचालक से मुलाकात हुई। छात्रों  ने जालसाज को बताया कि वह दोनों कनाडा की वेंडओवर आईएनएन यूनीवर्सिटी से स्पोर्ट संबंधी एक डिप्लोमा कोर्स करना चाहते हैं। आरोपी ने दोनों छात्रों के वहां भेजने की आमी भर दी। प्रोसेसिंग फीस, वीसा और कॉलेज फीस के नाम पर 24 मार्च 2016 को 1.62 लाख प्रति व्यक्ति के हिसाब से दोनों से रकम एंठ ली। बदले में आरोपी ने दोनों छात्रों को कुछ दिन बाद में फर्जी वीसा और कॉलेज का कॉल लेटर सेंड कर दिया। बाद में तजदीक करने पर पता लगा की वीजा और कॉल लेटर फर्जी है। जिसके बाद में शिकायती आवेदन थाना एमपी नगर पुलिस को दोनों छात्रों ने दिया था। आवेदन की जांच के बाद में पुलिस ने बीती रात प्रकरण दर्ज कर लिया है। आरोपी तन्मय को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जिसे जल्द ही न्यायालय में पेश किया जाएगा।