टिकट बंटवारे पर भाजपा में हताशा, इन नेताओं का दर्द झलका

-Frustration-in-the-BJP-on-the-ticket-distribution--the-pain-out-of-these-leaders

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी में भोपाल एवं इंदौर समेत शेष लोकसभा सीट पर प्रत्याशियों तय करने में पार्टी आलाकमान के रुख से मप्र भाजपा में हताश का माहौल है। इंदौर सांसद सुमित्रा महाजन के चुनाव नहीं लडऩे का ऐलान करने के बाद भाजपा के अन्य नेताओं का का दर्द भी सामने आ गया है। पूरी पार्टी इस बात को लेकर असमंजस में है कि आखिर प्रत्याशियों के नाम तय करने में देरी क्यों हो रही है। भोपाल सीट से कांग्रेस 15 दिन पहले दिग्विजय सिंह के नाम का ऐलान कर चुकी है। यहां भाजपा दिनों-दिन कमजोर होती जा रही है। 

किस नेता ने क्या बोला

सुमित्रा महाजन

इंदौर से लोकसभा टिकट की मजबूत दावेदार मानी जा रही सुमित्रा महाजन ने पार्टी हाईकमान से सीधे टकराने की वजाए मीडिया का सहारा लिया। उन्होंने मीडिया में पत्र जारी कर चुनाव नहीं लडऩे का ऐलान किया। महाजन के पत्र के बाद से भाजपा में हड़कंप की स्थिति है। प्रदेश भाजपा के नेता सीधे तौर पर सुमित्रा मामले से बचते नजर आ रहे हैं। 

नरेन्द्र सिंह तोमर

मुरैना से प्रत्याशी घोषित हो चुके नरेन्द्र सिंह तोमर खुद असमंजस की स्थिति में है। दो दिन पहले उनका दर्द तब झलका जब वे शिवपुरी में कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अभी उनका तय नहीं है कि वे मुरैना से ही चुनाव लडेंग़े। यहां बता दें कि तोमर को भोपाल से भी चुनाव लड़ाने की अटकलें हैं। 

आलोक संजर

भाजपा में सबसे ज्यादा मंथन भोपाल से कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह के खिलाफ प्रत्याशी तय करने में हो रहा है। इस बीच मौजूदा सांसद आलोक संजर ने भी बयान दिया कि उन्हें पार्टी का फैसला मंजूर हैं, लेकिन प्रत्याशी का चयन जल्द होना चाहिए। 

शिवराज सिंह चौहान

सुमित्रा महाजन का बयान सामने आने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी अपनी पत्नी साधना सिंह चौहान को विदिशा संसदीय क्षेत्र में खुद से ज्यादा लोकप्रिय बता दिया है। यह बात अलग है कि कुछ दिन पहले तक शिवराज साधना के चुनाव लडऩे से इंकार करते आ रहे थे। 

लक्ष्मीनारायण यादव 

सागर में भी भाजपा ने प्रत्याशी तय नही किया है। इस बीच मौजूदा सांसद लक्ष्मीनारायण यादव ने सोशल मीडिया पर लिखा कि वे खुद चुनाव लड़ेंगे। किसी भी हालत में दूसरे को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। हालांकि बाद में यादव ने यह पोस्ट हटा ली थी।