गड्डी गैंग गिरफ्तार, नोटों के नाम पर लोगों को बनाते थे अपना शिकार, 6 लाख के जेवर बरामद

गैंग की मास्टरमाइंड महिला मीना को भोपाल पुलिस की क्राइम ब्रांच ने दिल्ली से पकड़ा है, जबकि छह आरोपियों को हनुमानगंज पुलिस ने देवास से गिरफ्तार किया है।

Bhopal Gaddi Gang Arrested : भोपाल पुलिस ने गड्‌डी गैंग’ के सात मेंबर्स को गिरफ्तार किया है। गैंग की मास्टरमाइंड महिला मीना को भोपाल पुलिस की क्राइम ब्रांच ने दिल्ली से पकड़ा है, जबकि छह आरोपियों को हनुमानगंज पुलिस ने देवास से गिरफ्तार किया है। इनके पास से पुलिस ने करीब छह लाख रुपए कीमती जेवर बरामद किए हैं। जिन्हें आरोपियों ने महिलाओं से ठगे हैं। गड्डी गैंग के नाम से कुख्यात यह गैंग रास्ते चलते लोगों को बेवकूफ बनाकर उन्हे लूट लेती है, इस गैंग के सदस्य अपने पास नोटों की गड्डी रखते है जिसमें सिर्फ ऊपर और नीचे ही असली नोट होता है, यह राह चलते बुजुर्ग महिलाओं को अपना निशाना बनाते है, यह उन्हे रोक कर बैंक से रुपयों की गड्डी निकालना बताते है और फिर इन नोटों की गड्डी के बदले में उनके जेवर उतरवा लेते है, पीड़ित इनके झांसे में आसानी से आ जाता है और फिर इनका शिकार बनकर लुट जाता है।

दिल्ली से गिरफ्तार 

इस गैंग ने न केवल भोपाल बल्कि मध्यप्रदेश के कई बड़े शहरों में लोगों को अपना शिकार बनाया है। इनके पास से पुलिस ने 6 लाख के गहने बरामद किए है वही और तलाश की जा रही है, गैंग में महिलायें, पुरुष से लेर बच्चे तक शामिल है। पकड़े गए आरोपियों में भोपाल क्राइम ब्रांच ने  कालीचरण कैम्प ओखला मंडी थाना श्रीनिवासपुरी दिल्ली के रहने वाले लाल सोलंकी उर्फ भगवानदास (27) पुत्र पूरन सोलंकी, शिवा सोलंकी (21) पुत्र पूरण सोलंकी, संजू सोलंकी (23) पुत्र पूरण सोलंकी, राहुल उर्फ रोहित (19) पुत्र पूरण सोलंकी, शाबदा गोबरा जेजे कालोनी थाना कणजावला दिल्ली के रहने वाले देबू सोलंकी (21) पुत्र रूपलाल सोलंकी और टोनिका सिटी गिरजा घर के पीछे रहने वाले गोपाल परमार (22) पुत्र सेवाराम परमार को गिरफ्तार किया गया है। लाल सोलंकी, शिवा, संजू, राहुल सगे भाई हैं। सुल्तानपुरी दिल्ली निवासी गिरोह की मास्टरमाइंड मीना को क्राइम ब्रांच ने दिल्ली से पकड़ा है। उसका पति, लड़का फरार है। गिरोह बिहार, इंदौर में कई वारदातों को अंजाम देकर भोपाल पहुंचा था। पुलिस गिरोह के अन्य सदस्यों की तलाश में जुटी है।  अब तक आरोपियों ने 17 वारदातें कबूली हैं।