राजधानी में पौने तीन लाख के साथ दो दर्ज जुआरी गिरफ्तार

gambler-arrest-in-capital-with-cash-

भोपाल। राजधानी के टीला जमालपुरा थाना इलाके में आज अलसुबह साढ़े चार बजे पुलिस ने एक महिला के जुए खाने पर दबिश दी। जहां से दो दर्जन जुआरियों को दाव लगाते रंगे हाथों दबोचा गया है। आरोपियों के कब्जे से दो लाख 88 हजार रूपए की नकदी, दो दर्जन से अधिक मोबाइल, ताश पत्ते आदी बरामद किए गए हैं। कार्रवाई को सीएसपी नागेंद्र पटेरिया की अगवाही में तीन थानों की पुलिस ने मय महिला पुलिस बल के अंजाम दिया है। बावजूद इसके पुलिस मुख्य आरोपी और फड़ की सरगना को गिरफ्तार नहीं कर सकी।

जानकारी के अनुसार डीआईजी इरशाद वली लगातार अस्माजिक तत्वों गुंडो, बदमाशों और जुआरियों के खिलाफ मुहीम चलाकर कार्रवाई के निर्देश भोपाल पुलिस को दे रहे हैं। एसपी हेमंत चौहान के निर्देशन में बीती रात टीला जमालपुरा पुलिस ने सीएसपी नागेंद्र पटेरिया की अगवाही में टीला जमालपुरा थाना प्रभारी प्यारेलाल चौहान के साथ शाहजहांनाबाद,टीला जमालपुरा और कोहेफिजा पुलिस की टीम के साथ मिलकर मुखबिर की सूचना पर महिला फड़ संचालक भूरी बाई निवासी कांग्रेस नगर नाले के पास के मकान में घेराबंदी कर दबिश दी। जहां से जुएं में दाव लगाते आरोपी मोहसिन,फारुख,सूर्यकांत,शफीक,सुशील, मुकीम,नीरज,सुलेमान,अब्दुल रहीम,नसीम,शाहिद,विनोद कुमार,जितेंद्र कहार,जाकिर हसन,फहीम,मनोज,इमरान,जाहिद,दीपक राय, आकाश, मोहम्मद इरफान, शानू व वसीम को गिरफ्तार किया गया है। दाव में लगे 2 लाख 88 अजार की नकदी को जब्त किया गया है। आरोपियों के कब्जे से दो दर्जन से अधिक मोबाइल तथा जुआ खाने में लगे सीसीटीवी कैमरे और डीवीआर को जब्त किय ागया है। इन कैमरों के माध्यम से भूरी व उसके साथी आस पास की निगरानी करते थे। पुलिस को आता देख भूरी मौका पाकर भाग निकली थी। पुलिस उसकी तलाश कर रही है। वहीं गिरफ्तार आरोपियों की जानकारी शहर के विभिन्न थानों को दी गई है। सबके रिकार्ड खंगाले जा रहे हैं। 

जुआरि के भाई के अवैध कब्जे पर चला बुल्डोजर


इधर, स्थित स्टेशन की ओर जाने वाली सड़क पर अशोका गार्डन क्षेत्र में पुलिस टीम की अगवाही में सट्टा और जुआ किंग बाबू के करीबी माने जाने वाले अज्जु नामक व्यक्ति के छोटे भाई के अवैध कब्जे को कल दोपहर को धराशाही कर दिया गया। बताया जा रहा है कि इस कार्रवाई को एसडीएम कोर्ट के आदेश पर अंजाम दिया गया। दबंगो ने रास्ते पर कब्जा कर रखा था। जिसे नगर निगम, जिला प्रशासन के अधिकारियों ने पुलिस टीम की मौजूदगी में तोड़ा गया है।