अवैध कब्जा मामले में गांधी नगर पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ किया मामला दर्ज

शनिवार को नजूल विभाग ने हटाया था अतिक्रमण, गार्डन संचालक ने शासकीय कार्य में डाली थी बाधा

भोपाल,रवि नाथानी। राजधानी भोपाल (bhopal) के गांधी नगर क्षेत्र में पीपलनेर के पास सरकारी जमीन पर कब्जा कर एक गार्डन हिंगोरानी परिवार द्वारा बनाया गया था। इस मामले में लोकायुक्त में शिकायत के बाद इस अतिक्रमण को हटाने की कार्रवाई शनिवार को हुई थी, जिसमें हिंगोरानी परिवार और क्षेत्रीय पार्षद कांग्रेस ने शासकीय कार्य में बाधा डालने का, इस पर तहसीलदार द्वारा चार लोगों के खिलाफ गांधी नगर थाने में एफआईआर दर्ज हो गई है।

यह भी पढ़े…टीवी के वॉल्यूम को लेकर छिड़ा झगड़ा, बहू ने दांत से चबा डाली सास की उंगली, पति पर बरसाए थप्पड़

गांधी नगर का यह विवाद अब धीरे-धीरे राजनैतिक रंग के साथ तूल पकडने लगा है। गांधीनगर मैरिज गार्डन अतिक्रमण कार्रवाई मामले में एफआईआर हुई है। कार्रवाई के दौरान जिला प्रशासन के अधिकारियों से विवाद करना और आरोप लगाना पार्षद, गार्डन संचालक और उसके बेटों पर विभिन्न धाराओं में गांधी नगर थाने में मामला दर्ज किया है। तहसीलदार गुलाब सिंह ने केस रजिस्टर्ड कराया है।

अवैध कब्जा मामले में गांधी नगर पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ किया मामला दर्ज

यह भी पढ़े…मध्यप्रदेश में प्रशासनिक फेरबदल, बदले गए IAS अधिकारियों के विभाग, देखिए जारी सूची…..

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक शासकीय जमीन पर कब्जा कर बनाए गए रमेश हिंगोरानी के मैरिज गार्डन के स्टेज, बाउंड्री वाल को हटाने की कार्रवाई की गई थी। कार्रवाई के दौरान गार्डन मालिक रमेश हिंगोरानी, उसके बेटे नीलेश व योगेश ने बाधा खड़ी की थी। पार्षद लक्ष्मण राजपूत ने भी ने उनका साथ दिया था। जिसके चलते तहसीलदार गुलाब सिंह ने धारा 506,34 और 353 के तहत मामला दर्ज कराया है।

यह है मामला
पीपलनेर गांव में साई मैरिज गार्डन रमेश हिंगोरानी ने बनाया है, जो 12 हजार वर्ग फीट से अधिक भूमि पर कब्जा कर बनाया गया है। इसे हटाने के लिए प्रशासन ने नोटिस दिए थे और कब्जा हटाने को कहा था। हाई कोर्ट ने मामले में 16 हजार वर्ग फीट में 12,388 वर्ग फीट अवैध कब्जा माना था। कब्जे की जमीन की कीमत डेढ़ करोड़ है।