किसानों को लेकर भार्गव ने सरकार को घेरा, बोले- ”प्रदेश में बंटाधार युग की वापसी हो चुकी है”

भोपाल।

एक बार फिर प्रदेश में यूरिया की किल्लत हो गई है, किसान परेशान हो रहे है, किसानों को लाइन लगाकर पुलिस बल के बीच यूरिया बांटा जा रहा है, पर्चियों दी जा रही है, इसको को लेकर नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कमलनाथ सरकार को जमकर घेरा है।भार्गव ने सरकार पर कालाबाजारी के आरोप लगाए है।वही प्रदेश में फिर से बंटाधार युग की वापसी की बात कही है।

दरअसल, भार्गव ने एक के बाद एक ट्वीट कर सरकार को आड़े हाथों लिया है। भार्गव ने ट्वीट कर लिखा है कि कांग्रेस और कालाबाजारी एक सिक्के के दो पहलू है। कांग्रेस के राज में फिर से प्रदेश में यूरिया की कालाबाजारी शुरू हो गयी है। प्रदेश में बंटाधार युग की वापसी हो चुकी है। यूरिया के लिए किसानों को पुलिस के डंडे खाना पड़ रहे हैं। जिलों में यूरिया के लिए झड़प की घटनाएं सामने आ रही है। 

अगले ट्वीट में भार्गव ने लिखा है कि किसानों को यूरिया प्रबंधन करने के बजाए सरकार का तंत्र कालाबाजारी के प्रबंधन में लगा है। बीजेपी की सरकार में किसानों को कभी भी खाद बीज और यूरिया के लिए असुविधा का सामना नहीं करना पड़ा लेकिन कांग्रेस सरकार में यूरिया की कालाबाजारी और खाद के बदले किसानों को लाठी मिलना आम बात है।

बता दे कि प्रदेश में लगातार यूरिया की किल्लत हो रही है और किसानों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। वही केंद्र सरकार ने अब यूरिया की आपूर्ति का कोटा लगभग दो लाख मीट्रिक टन कम कर दिया। इसके पहले यूरिया की रबी सीजन के लिए मांग 18 लाख मीट्रिक टन से घटाकर 15 लाख 40 हजार मीट्रिक टन कर दी गई थी। इसका सीधा असर उन किसानों पर पड़ेगा, जो अतिवृष्टि की मार झेल रहे है।साथ ही सरकार को भी बड़ा झटका लगा है।