खरगोन में दंगा पीड़ितों के घर बनवाएगी सरकार- CM शिवराज ने किया ऐलान

pwd

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। खरगोन हादसे में अपना घर गवांने वाले पीड़ितों के लिए राहत भरी खबर का ऐलान खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया है, मुख्यमंत्री ने खरगोन दंगे को लेकर भोपाल के मोतीलाल नेहरू स्टेडियम में अंबेडकर जयंती का राज्य स्तरीय कार्यक्रम बड़ी घोषणा की है। उन्होंने कहा है कि दंगे में जिन लोगों के घर जले हैं, उन्हें सरकार बनवाएगी। वही मुख्यमंत्री ने चेतावनी भी दी कि अगर प्रदेश में किसी ने दंगा फैलाया, तो मामा छोड़ेगा नहीं।

यह भी पढ़ें… Government Job: रक्षा मंत्रालय में निकली भर्ती, कुल वैकेंसी 24, जाने डीटेल

वही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कुछ लोग हैं, जो गड़बड़ करते हैं। उन्हे बख्शा नहीं जाएगा, पूरे प्रदेश में दंगाइयों के खिलाफ सख्त कार्रवाई जारी रहेगी। खरगोन में गरीबों के घर जल गए। उनमें अनुसूचित जाति के लोग भी थे। छोटे-छोटे मकान जला दिए। जिन्होंने घर जलाए उन पर कार्रवाई होगी और जिनके घर जले हैं, वो चिंता नहीं करें। मामा फिर से घर बनाएगा। हम फिर से घर खड़ा करेंगे। मुख्यमंत्री ने मंच से एक बार फिर साफ कर दिया कि जिन्होंने घर जलाए हैं, इस घटना को अंजाम दिया है उन्हे बख्शा नहीं जाएगा, बाद में उनसे ही वसूल करूंगा। छोडूंगा नहीं।

यह भी पढ़ें… केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह 22 अप्रैल को भोपाल प्रवास पर-आदिवासियों को मिलेगी सौगात

अब वही खरगोन हिंसा के बाद शांति कायम करने प्रयास जारी है हालांकि हालात सामान्य है लेकिन उसके बावजूद अभी भी पुलिस और प्रशासन सतर्क है, वही घटना के पाचवें दिन गुरुवार से प्रशासन ने छूट दे दी। कलेक्टर अनुग्रहा पी की अनुशंसा पर कर्फ्यू में सुबह 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक ढील दी गई थी। लेकिन, लोगों की परेशानी को ध्यान में रखते हुए दोपहर 3 बजे से 5 बजे तक महिलाओं को दोबारा छूट दी जाएगी। हालांकि महिलाओं को भी सिर्फ बिना वाहन के ही छूट मिली है। छूट के दौरान  सिर्फ किराना, सब्जी, दूध और मेडिकल दुकानें ही खुलेंगी। ऑगओ को पास की दुकानों से ही समान खरीदने की छूट दी गई है, इसके साथ ही इलाके की सभी किराना दुकान संचालकों के लिए आदेश जारी किया है। कर्फ्यू के दौरान निर्धारित समयावधि के लिए दी गई छूट के दौरान फूड एंड सेफ्टी विभाग द्वारा जारी लाइसेंस अपने साथ रखने का आदेश है। जिनके पास लाइसेंस हैं, उन्हें छूट के दौरान पास की आवश्यकता नहीं है। वही लोगों से शांति बनाए रखने की अपील लगातार की जा रही है इसके साथ ही पुलिस की सायबर टीम भी पूरे इलाके में नजर बनाए हुए है किसी भी तरह के आपत्तिजनक मेसेज या अफवाह फैलाने वालों को चेतावनी जारी की गई है।