कोरोना के लिए स्पेशल टीम बनाएगी सरकार, प्रमुख शहरों में कैंप लगाएगा दल

भोपाल| मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में कोरोना (Corona) महामारी पर काबू पाने सरकार कई बड़े कदम उठा रही है| प्रदेश में प्लाज्मा थेरेपी (plasma therapy) से इलाज शुरू हो चुका है| वहीं अब सरकार ने एक स्पेशल टीम बनाने का फैसला किया है| इस दल में एक वरिष्ठ आईएएस अधिकारी, वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी, प्रशासनिक क्षेत्र के अधिकारी होंगे| दल में अधिकतम 10 लोग होंगे| यह दल प्रमुख स्थानों पर जाकर कैंप करेंगे और बारीकी से स्कूटनी करेंगे और व्यवस्था देखेंगे। कोरोना वायरस के हालातों को लेकर गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) ने मीडिया से चर्चा में इसकी जानकारी दी।

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने हम लगातार अपनी जांच की क्षमता बढ़ा रहे हैं। हम जांच के क्षेत्र मे लंबी छलांग लगाएंगे। अभी तक 32 हजार सैंपल भेजे गए थे जिसमे 28 हजार रिपोर्ट आ चुकी है| जांच की क्षमता भी बढ़ कर 24 सौ से ऊपर हो गई है और जांच की क्षमता बढ़ा रहे हैं| वहीं उन्होंने कहा कि कोरोना को लेकर अब हर व्यक्ति को जागरूक रहना होगा। कुछ सावधानियों को अब लाइफ स्टाइल में लेना होगा। यह रोग ही ऐसा है। लाइफ स्टाइल को बदलने की कोशिश करें क्योंकि यह रोग लंबा चल सकता है। सावधानी रखनी होगी। भीड़ न हो। दो मीटर की दूरी हो।

नरोत्तम मिश्रा ने बताया सरकार ने सरकार ने जीवन अमृत योजना शुरू की है, इस योजना के तहत 1 करोड़ काढ़े के पैकेट लोगों तक पहुंचाएंगे। आयुष विभाग द्वारा काढ़ा के पैकेट को निशुल्क वितरित किया जाएगा, प्रत्येक पैकेट का वजन 50 ग्राम होगा| उन्होंने बताया काढ़ा मध्य प्रदेश लघु वनोपज संघ द्वारा बनाया जा रहा है| यह काढ़ा शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि करेगा, इससे ना केवल कोरोनाना बल्कि सर्दी जुकाम खांसी में भी लाभप्रद होगा| इसके कोई भी दुष्प्रभाव नहीं है|

उन्होंने बताया 3 मई के बाद ग्रीन इलाकों में रीलेक्सेशन दिया जा सकता है। भोपाल, इंदौर, उज्जैन खरगोन को लेकर 3 तारीख को तय केंद्र गाइडलाइन तय करेगा।