Governor-Anandiben-Patel-vote-Appeal-in-the-favors-of-pm-modi

रीवा/भोपाल।

सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी का ध्यान रखने की बात करती हुई नजर आ रही है। वीडियो वायरल होने पर राजनीति में सियासी हड़कंप मच गया है।वही कांग्रेस हमलावर हो चली है। कांग्रेस ने राज्यपाल को हिदायद दी है कि अगर उन्हें बीजेपी का कार्यकर्ता बनकर काम करना है तो वे अपना इस्तीफा देकर लोकसभा चुनाव लड़े। हालांकि यह पहला मौका नही है। इससे पहले वे चित्रकूट दौरे के वक्त सतना एयरपोर्ट पर भाजपा पदाधिकारियों को जीत का मंत्र देते हुए विवादों में आ गई थीं।

दरअसल, विंध्य में दो दिवसीय दौरे पर आईं राज्यपाल आनंदी पटेल शनिवार को गुढ़ स्थित सोलर पॉवर प्लांट का निरीक्षण करने पहुंची। निरीक्षण के बाद उन्होंने ग्रामीणों से मुलाकात की। जब गांव के लोगों ने उनसे मांग की कि सोलर पॉवर प्लांट में स्थानीय युवाओं को रोजगार दिया जाए, तो उन्होंने इस संबंध में अधिकारियों को सूची बनाने को कहा और जाते-जाते ग्रामीणों से उन्होंने साफ शब्दों में कहा- मोदी साहब का ध्यान रखो…।इस दौरान पूर्व मंत्री एवं भाजपा विधायक राजेन्द्र शुक्ला व केपी त्रिपाठी भी मौजूद रहे। अब उनका ये वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। लोकसभा चुनाव से ठीक पहले पटेल के बयान वायरल होने के बाद राजनीति गर्मा गई है।कांग्रेस हमलावर हो चली है और इस्तीफे की मांग कर रही है।

कांग्रेस ने मांगा इस्तीफा

राज्यपाल आनंदी बेन के मोदी के ख्याल रखने के बयान पर बोले कमलनाथ सरकार में सहकारिता मंत्री गोविंद सिंह ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि राज्यपाल बीजेपी की कार्यकर्ता की तरह काम कर रही है ।राज्यपाल को अपने पद की गरिमा का ध्यान नही ।राज्यपाल को बीजेपी की कार्यकर्ता बनकर ही काम करना है तो पद से इस्तीफ़ा दें और जाकर लोकसभा चुनाव लड़े।गोविंद यही नही रुके उन्होंने आगे कहा कि पहले भी राज्यपाल ने विधानसभा में अभिभाषण के दौरान  बीजेपी की प्रति निष्ठा दिखाई थी। कांग्रेस के क़र्ज़माफ़ी के बिन्दु को पढ़ा ही नही और बिना भाषण में लिखे बीजेपी के नारे को पढ़ दिया।गोविंद ने इस्तीफे की मांग करते हुए कहा कि संवैधानिक पद का ध्यान रख राज्यपाल को अपने पद से इस्तीफ़ा दे देना चाहिए।