गोविंद राजपूत बोले-‘सिंधिया’ बने केन्द्रीय मंत्री, इमरती बोली-हाईकमान करेगा तय

भोपाल।
शिवराज मंत्रिमंडल विस्तार (Shivraj cabinet expansion) की चर्चाओं के बीच सिंधिया समर्थक (Scindia supporter) औऱ शिवराज सरकार(shivraj sarkar) में कैबिनेट मंत्री गोविंद राजपूत(Cabinet Minister Govind Rajput) का बड़ा बयान सामने आया है।मंत्री का कहना है कि हम चाहते हैं कि ज्योतिरादित्य सिंधिया केंद्रीय मंत्री बनें, लेकिन यह केंद्रीय नेतृत्व ही तय करेगा। राजपूत के बयान से साफ जाहिर हो रहा है कि कमलनाथ सरकार (Kamal Nath Government)गिराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले सिंधिया को उनके समर्थक सिर्फ राज्यसभा उम्मीदवार ही नही बल्कि मोदी कैबिनेट में भी जगह दिलवाने की चाह रख रहे है।हालांकि बीजेपी(BJP) की तरफ से इस संबंध में कोई बयान सामने नही आया है लेकिन राजपूत के बयान ने कही ना कही सियासी गलियारों में एक नई बहस छेड़ दी है।

दरअसल, गोविंद राजपूत आज प्रदेश भाजपा कार्यालय पहुंचे हुए थे जहां प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा से सामान्य चर्चा हुई है।मीडीय से चर्चा के दौरान राजपूत ने बताया कि भाजपा कार्यालय में वीडी शर्मा से सामान्य चर्चा हुई है।हम चाहते हैं कि ज्योतिरादित्य सिंधिया केंद्रीय मंत्री बने लेकिन यह केंद्रीय नेतृत्व तय करेगा। वही मंत्रीमंडल विस्तार को लेकर कहा कि ये सीएम शिवराज के अधिकार क्षेत्र में है, इसमें कुछ नही बोलना चाहता। सिंधिया के नेतृत्व में उपचुनाव में 24 सीटें जीतना हमारा लक्ष्य है।

इधर मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलों के बीच इमरती देवी(imarti devi) भी भाजपा कार्यालय (bjp office) पहुंची थी। यहां उन्होंने प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा(bjp state president vd sharma) से चर्चा की। बंद कमरे में नेताओं से काफी देर कर इमरती देवी की चर्चा होती रही ।मीडीया से चर्चा के दौरान मंत्री बनने को लेकर इमरती देवी ने कहा मंत्री बनेंगे या नहीं यह भाजपा हाईकमान तय करेगा। अपने क्षेत्र और कोरोना संकट के बारे में चर्चा के लिए नेताओं से मिल रही हूं। इससे पहले वह मुख्यमंत्री शिवराज से मिलने पहुंची थी।

बता दें कि प्रदेश में मंत्रिमंडल का विस्तार जल्द होने वाला है। मंत्रिमंडल विस्तार में करीब 22 मंत्री बनेंगे, ऐसे में कई मंत्री के दावेदार सीएम शिवराज सिंह से मुलाकात कर रहे हैं। पहले मंत्रिमंडल गठन में पांच में से दो मंत्री सिंधिया गुट के हैं। वही मंत्री गोविंन्द राजपूत और इमरती देवी को सिंधिया के काफी करीबी माना जाता हैं ।