सत्ता के लालची देश को जातियों में बांट रहे: कमलनाथ

721
-Greedy-people-of-power-are-divided-into-castes--Kamal-Nath

भोपाल। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि हमारा देश-हमारा प्रदेश संस्कृतियों से भरा पड़ा है, लेकिन सत्ता के लालची देश को जातियों में बांटकर बंटवारा करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा ने देश का विभाजन करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है, लेकिन अब प्रदेश की जनता, प्रदेश का युवा समझदार है और वह किसी के बहकावेे में आने वाला नहीं है। उसे पता है कि देश और प्रदेश को कौन बेहतर तरीके से चला सकता है। वे चुनावी सभाओं को संबोधित कर रहे थे। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र में भाजपा की सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पिछले पांच वर्षों से देशवासियों को पागल बना रहे हैं, उन्हें अच्छे दिनों का लालच दे रहे हैं, 15 लाख रूपए एकाउंट में डालने का प्रलोभन देते रहे, लेकिन किस के खाते में डाल पाए वे 15 लाख रूपए। सिर्फ सपने दिखाते रहे, लेकिन अब देश के गरीबों को हर साल 72 हजार रूपए देने की वादा कांग्रेस ने किया है। यह भाजपा के झूठे वादों की तरह नहीं होगा। प्रदेश की जनता ने सच्चाई पहचानी और सच्चाई का साथ दिया। इसलिए अब परिवर्तन है और यह सच्चाई अभी और पहचाननी है। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में प्रदेश की जनता ने कांग्रेस की संस्कृति, कांग्रेस के सिद्धांत, कांग्रेस की सभ्यता का साथ दिया। लोकसभा में भी हमें सबका साथ चाहिए। उन्होंने कहा कि हमने वचन दिया था कि कृषि क्षेत्र में नई क्रांति लाएंगे और यह करके भी दिखाया है। कमलनाथ ने कहा कि अब भाजपा और उसके घटक दल भयभीत है कि उनके हाथ से सत्ता जाने वाली है तो वे हमारे ऊपर उल्टे-सीधे आरोप-प्रत्यारोप मढ़ रहे हैं, लेकिन हम किसी से डरने वाले नहीं है। अब देश को राहुल गांधी जैसे प्रधानमंत्री की जरूरत है, जो इस बार बनेंगे भी। उन्होंने उपस्थित जनसमूह से कांग्रेस को वोट देने की अपील की।

भाजपा ने प्रदेश का जमकर शोषण किया, हम करेंगे पोषित

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में 15 साल तक भाजपा की सरकार रही हैं। इन्होंने प्रदेश की जनता का और किसानों का शोषण किया है। यदि इन्हें किसानों की चिंता रहती तो प्रदेश में इतने किसान फांसी के फंदे पर नहीं झूलते। भाजपा की कथनी और करनी में जमीन आसमान का अंतर है। 75 दिनों की सरकार में हमने अपने 83 वचनों को पूरा किया है। चुनाव की आचार संहिता के बाद हम हमारे सभी वचनों को भी पूरा करेंगे। प्रदेश के किसानों का दो-दो लाख रूपए तक का ऋण माफ किया जाएगा। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here