गुना मामला: नरोत्तम बोले-ये MP है, जो कानून का पालन नहीं करेगा, भेजेंगे जेल

भोपाल।

कोरोना संकटकाल (corona crisis) में गुना (guna) किसान के साथ हुए अमानवीय घटना के बाद सियासत गर्म है, लेकिन प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (cm shivraj singh chouhan) ने घटना को गंभीरता से लिया और कलेक्टर-एसपी (collector-sp) को तत्काल प्रभाव से हटा दिया । अब इस मामले में गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Home Minister Narottam Mishra) का बडा बयान सामने आया है। मिश्रा का साफ कहना है कि ये मध्यप्रदेश है यहां कानून का राज है। पुलिस कानून का पालन कराएगी नहीं तो जो पालन नहीं करेगा जेल भेज देगी।

वही उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री ने उच्च स्तरीय जांच के निर्देश दिए हैं। घटना क्यों हुई, कैसे हुई और इसके पीछे कौन दोषी है, इन सब बातों की जल्द रिपोर्ट देने के लिए एक टीम भोपाल से गुना रवाना कर दी गई है। गुना की घटना को गंभीरता से संज्ञान में लेते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुना के कलेक्टर और एसपी को तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश दिए है।मिश्रा ने कहा कि हमारे प्रदेश की गरीब जनता को जो तत्व चिटफंड के नाम पर ठगते हैं, उनको आगाह करता हूं कि हम किसी को छोड़ेंगे नहीं। पूरे राज्य में जगह-जगह कैंप लगाकर लोगों की शिकायतें सुनेंगे और ऐसे तत्वों को चिन्हित करके सख्त कार्रवाई करेंगे।

वही राहुल गांधी के ट्वीट पर कहा ” जब राहुल गांधी जी की सरकार थी तब प्रीपेड व्यवस्था की तहत अधिकारियों की पोस्टिंग होती थी। हमने जानकारी आते ही कलेक्टर एसपी आईजी सब बदल दिए। साथ ही कमलनाथ के जंगलराज ट्वीट पर कहा ” कमलनाथ जी की सरकार में दो बच्चे सतना से अपह्त हुए। उनकी डेड बॉडी ही मिली। उनके समय यहां अपराधी पकड़े नहीं जाते थे। बल्कि संरक्षण दिया जाता था। यहां तो कार्रवाई होती है। कोई कितना भी बड़ा अफसर हो अगर लापरवाही करेगा तो नाप दिया जाएगा। ज्योतिरादित्य सिंधिया के ट्वीट पर कहा” चलिए सिंधिया भी बीजेपी के नेता है, जब वो पहले चिट्ठी लिखते तब भी ये हरकत में नहीं आते थे ”