लू ने GRP हेड कॉन्स्टेबल की ली जान, MP में अबतक 7 की मौत

gwalior-grp-head-constable-died-due-to-heat-stroke-mp

भोपाल।

मध्यप्रदेश में भयंकर गर्मी का कहर जारी है, लू के कारण हालत बुरे हो गए है। लोग मॉनसून का इंतजार कर रहे हैं।लेकिन यहां कई हिस्सों में गर्मी इतनी ज्यादा बढ़ गई हैं कि लोगों को अपनी जान तक गंवानी पड़ रही है।ग्वालियर में जहां GRP के एक हेड कॉन्स्टेबल की गर्मी से मौत हो गयी, वही जबलपुर में एक 6 महीने के मासूम की मौत हो गई।बता दे कि एमपी में अबतक भीषण गर्मी और लू से सात लोगों की मौत की हो चुकी है।

दरअसल, प्रदेश में भीषण गर्मी अब लोगों की जान पर भारी पड़ रही है। ग्वालियर में जीआरपी के हेड कॉन्स्टेबल की लू लगने से मौत हो गई। जीआरपी पुलिस के मुताबिक,55 वर्षीय विनोद सिंह ग्वालियर जीआरपी में हेड कॉन्स्टेबल के तौर पर तैनात थे, वो 2 दिन पहले ड्यूटी के दौरान विनोद सिंह लू की चपेट में आ गए थे। बीमार विनोद सिंह का आरोग्यधाम अस्पताल में इलाज कराया गया। लेकिन उसका फायदा आरक्षक नहीं मिला और बुधवार को रात 9.30 बजे उनकी मौत हो गई। देर रात जीआरपी के स्टाफ हेड कॉन्स्टेबल विनय सिंह उनके लिए खाना लेकर पहुंचे तो उन्होंने दरवाजा अंदर से बंद पाया, आवाज देने के बावजूद जब विनोद सिंह ने दरवाजा नहीं खोला तो स्टाफ ने जीआरपी अफसरों को इसकी सूचना दी। जीआरपी टीआई अजीत सिंह चौहान सहित आला अधिकारी रेलवे क्वार्टर पहुंचे और वहां दरवाजा तोड़कर अंदर पहुंचे। अंदर पलंग पर प्रधान आरक्षक विनोद सिंह बेहोश पड़े थे, उन्हें फौरन अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उनके मृत घोषित कर दिया।वो सतना के रहने वाले थे। यहां वो अकेले ही रह रहे थे।पुलिस ने उनका शव पीएम के लिए भेज दिया है।इसके साथ परिजनों को इसकी सूचना दे दी गई है।मौसम विभाग की माने तो अगले 24 घंटे के दौरान ग्वालियर-चंबल संभाग लू की चपेट में रहेगा। साथ ही तापमान भी अधिकतर जिलों में 45 डिग्री के पार रहने की संभावना है। अभी 5 दिन तक गर्मी से राहत मिलने की कोई उम्मीद नहीं है। 

वही दूसरी घटना जबलपुर के तिलहरी इलाके की, जहां 6 महीने के एक बच्चे की मौत हो गयी।यहां मदन महल पहाड़ी पर कब्ज़ा किए करीब 2200 परिवारों को हटाकर तिलहरी में बसाया गया है। ये परिवार त्रिपाल और बांस-बल्ली के सहारे हैं। शहर का पारा 46 डिग्री पार कर रहा है। ये भीषण गर्मी 6 महीने का बच्चा धनराज नहीं सह पाया और आज उसकी मौत हो गयी।हाल ही में यहां दो महिलाओं की भी मौत हुई थी। वहीं प्रशासन लू से मौत की पुष्टि नहीं कर रहा है।मौसम विभाग की माने तो 

बता दे कि अबतक मध्यप्रदेश में सात लोगों की मौत हो चुकी है।इससे पहले सतना में दो दिन पहले गर्मी और लू के चपेट में आने से दो लोगों की मौत हो गई थी। वही 4 जून को अमरपाटन के खजूरी ताल गांव में रामचंद्र केवट की मौत हो गई थी।