गृहमंत्री बोले, ‘माफियाओं की लिस्ट तैयार, हमारी नजर से कोई नहीं बचेगा’

भोपालग्वालियर| मुख्यमंत्री कमलनाथ की मंशानुसार प्रदेश में संगठित अपराध, भू माफिया, रेत माफिया, बिल्डर माफिया, नशे के अवैध कारोबार समेत अन्य कारोबार से जुड़े माफियों की कमर तोड़ने की तैयारी कर रही है| इंदौर इस तरह की कार्रवाई चल रही है| अन्य जिलों में भी ऐसे लोगों को चिन्हित कर टारगेट पर लिया जाएगा| ग्वालियर पहुंचे गृहमंत्री बाला बच्चन ने साफ़ किया है कि माफियायों के खिलाफ अभियान जारी रहेगा। माफियाओं की लिस्ट हमारे पास कंप्लीट है, इंदौर और ग्वालियर इसके दो बड़े उदाहरण हैं।

माफिया को लेकर पूछे गए सवाल पर गृहमंत्री ने कहा कि माफियाओं की पूरी सूची बन चुकी है चाहे कोई भी माफिया हो अब हमारी नजर से बच नहीं सकेगा। हालांकि लिस्ट में किनके नाम है उस सवाल को गृहमंत्री टाल गए|  गृहमंत्री ने शुक्रवार को पुलिस विभाग के अधिकारियों की समीक्षा बैठक बुलाई थी। बैठक में प्रदेश के सभी जिलो में बड़ रहे अपराध और माफियाओं के आतंक को खत्म करने को लेकर चर्चा हुई। बैठक के बाद बाला बच्चन ने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि मध्यप्रदेश अपराध और अपराधी मुक्त प्रदेश चाहिए इस संबंध में निर्देश दिया गया है।

गृहमंत्री ने कहा प्रदेश में जो भी कानून हाथ में लेगा उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। कानून से बढ़कर कोई नहीं है। इस दौरान उन्होंने पूर्व की बीजेपी की सरकार पर भी निशाना साधा है।  वहीं पुलिस विभाग में आउट ऑफ टर्न प्रमोशन को लेकर गृह मंत्री ने कहा कि अगर जहां आवश्यकता हुई और जरूरत पड़ी तो उसी के अनुसार निर्णय लिया जाएगा। वही राजस्व को लेकर उन्होंने कहा अभी रेत पर 1250 करोड़ का रेवेन्यू मिला है। जबकि पुरानी सरकार सिर्फ 220 या 235 करोड का रेवेन्यू ले पाती थी इससे पता चलता है कि हर साल 1000 करोड़ से ज्यादा का लॉस हो रहा था यह कहां जाता था कैसे निकाला जाएगा इस पर भी विचार किया जा रहा है।