मौसम विभाग ने फिर की प्रदेश के इन जिलों में भारी बारिश की भविष्यवाणी

heavy-rainfall-predict-in-these-district-of-madhya-pradesh

भोपाल। मध्य प्रदेश में भारी बारिश का दौर लगातार जारी है। प्रदेश के कई स्थानों पर नदी नाले उफान पर हैं। मंदसौर में बाढ़ जैसे हालात ���ैं। मुख्यमंत्री कमलनाथ के निर���देश पर राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा भी किया। मौसम विभाग के मुताबिक फिलहाल बारिश का दौर थमा है। लेकिन एक बार फिर 14 अगस्त के बाद मानसूम की वापसी होगी और भारी बारिश होने की संभावना है। मौसम विभाग ने वर्षा का सिस्टम आज उत्तर गुजरात और दक्षिणी राजस्थान पर ‘शिफ्ट’ हो गया है, गुजरात से लगे सीमावर्ती इलाकों में कहीं कहीं वर्षा हो सकती है।

बंगाल की खाड़ी के उत्तर पश्चिमी इलाके पर 12 अगस्त को कम दबाव का एक और सिस्टम बन रहा है, इससे 14-15 अगस्त तक मध्यप्रदेश में बारिश का एक और दौर शुरू होने की संभावना है। प्रदेश में शनिवार को रतलाम में 4 मिमी, सतना में 3 मिमी एवं गुना में एक मिमी वर्षा हुई तथा इंदौर सहित कहीं कहीं बूंदाबांदी के अलावा उल्लेखनीय वर्षा शाम तक कहीं नहीं हुई है। हालांकि पिछले चौबीस घंटों के दौरान भाभरा में 190 मिमी, सरदारपुर में 100 मिमी, मनावर में 90 मिमी, अलीराजपुर, नालछा एवं मंदसौर में 80 मिमी, सेंधवा एवं जोबट में 70 मिमी तथा गंधवानी एवं सीहोर में 60 मिमी वर्षा हुई है। इसके अलावा कुछ स्थानों पर 50 से 30 मिमी वर्षा हुई। राजधानी भोपाल में आज मौसम खुला और चमकीली धूप निकलने से लोगों को लगातार बारिश की गिरफ्त से मुक्त होने पर राहत मिली। इस वर्षा से भोपाल का बड़ा तालाब लबालब हो गया। भोपाल में एक जून से अब तक 986़ 2 मिमी पानी बरसा जो सामान्य से 330़ 2 मिमी ज्यादा है।

इन जिलों में भारी बारिश की चेतावनी

प्रदेश में अगले चौबीस घंटों में गुजरात की सीमा से लगे रतलाम, अलीराजपुर, झाबुआ, बड़वानी, धार, नीमच एवं मंदसौर जिलों में कहीं कहीं भारी वर्षा हो सकती है। प्रदेश के अन्य क्षेत्रों में कहीं कहीं लोकल सिस्टम से वर्षा हो सकती है, क्योंकि अभी नमी बनी हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here