कोरोना संकटकाल के बीच गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने किए कई बड़े ऐलान

भोपाल।

एमपी के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बड़ा ऐलान किया है। मिश्रा ने कहा है कि सरकार कोरोना से संक्रमित होकर शहीद होने वाले पुलिसकर्मियों को 15 अगस्त को कर्मवीर सम्मान से सम्मानित करेगी। शहीद पुलिसकर्मी के परिवार के लिए PHQ मे हेल्प डेस्क बनाई जाएगी। वही कोरोना संक्रमण मे लगातार 30 दिन काम करने वाले पुलिसकर्मीयों को मैडल मिलेगा। आने वाले समय मे घर घर जाकर एफआईआर लिखी जायेगी।इस दौरान मिश्रा ने कहा कि विषम परिस्थितियों में काम करने वाले जवानों के लिए क्या किया जा सकता है, इस बात पर भी विचार किया जाना चाहिए।वही मिश्रा ने पुलिस मुख्यालय पहुंचकर मीटिंग में सबसे पहले मध्यप्रदेश के शहीद पुलिस कर्मियों को श्रद्धांजलि दी। वही उन्होंने पुलिस के आला अधिकारियों द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।

दरअसल, गृह, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने आज पुलिस मुख्यालय में वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के साथ आयोजित बैठक में उच्चतम वेतनमान पर कार्यरत पुलिसकर्मियों को पदनाम देने पर सैद्धांतिक सहमति व्यक्त करते हुए प्रस्ताव देने के निर्देश पुलिस महानिदेशक को दिये। उन्होंने शहीद पुलिसकर्मी और अन्य मृतक पुलिसकर्मियों के परिवारों की सहायता करने के लिये हेल्प-डेस्‍क प्रारंभ करने के निर्देश दिये।मंत्री डॉ. मिश्रा ने कहा कि पुलिसकर्मियों के कल्याण की प्रक्रिया नीचे से ऊपर की ओर चलेगी। पुलिसकर्मियों की क्रमोन्नति, पदोन्नति पर निर्णय लिये जाने संबंधी आवश्यक कार्यवाही तत्परतापूर्वक की जाए। जिन परिस्थितियों में आज पुलिस विभाग कार्य कर रहा है, उनके कल्याण के लिये विभाग आगे बढ़कर कार्य करेगा। उन्होंने पुलिस के आला अधिकारियों से आवश्यक सुझाव भी मांगे। उन्होंने कहा कि पुलिस विभाग के शहीद और अन्य मृतक पुलिसकर्मियों के परिजनों की समस्याओं का निराकरण हेल्प-डेस्क के माध्यम से किया जाएगा।

कोरोना कर्मवीरों को सम्मानित किया जाएगा
मंत्री डॉ. मिश्रा ने कोरोना की जंग से निपटने में पुलिस विभाग के अधिकारी कर्मचारियों के हौसले और परिश्रम का अभिनंदन किया । उन्होंने कहा कि उन सभी पुलिसकर्मियों को कर्मवीर पदक से सम्मानित किया जाएगा, जिन्होंने कोरोना की जंग में तीस दिन तक अपनी सेवाएँ दी।

डायल 100 घर जाकर दर्ज करेगी एफआईआर
मंत्री डॉ. मिश्रा ने कहा कि पुलिस विभाग सुधारात्मक प्रक्रिया के अंतर्गत वन स्टेप-अप होकर कार्य करेगा। डायल 100 एफआरवी (फर्स्ट रिस्पांस व्हीकल) लोगों की शिकायत पर घर जाकर एफआईआर दर्ज करेगी। शीघ्र ही इसके लिये आवश्यक कदम उठाएं जा रहे है। अति गंभीर मामलों को छोड़कर सामान्य मामलों में इस प्रकार की एफआईआर डायल 100 द्वारा दर्ज की जा सकेगी। शीघ्र ही आमजन को यह सुविधा मिलेगी कि उन्हें एफआईआर दर्ज कराने के लिये थाने नहीं जाना पड़ेगा। बैठक में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक और पुलिस महानिरीक्षक स्तर के सभी अधिकारी उपस्थित थे।

 86 पुलिसकर्मी और 5 होमगार्ड कोरोना संक्रमित होकर उपचारत 

पुलिस महानिदेशक विवेक जोहरी ने कहा कि प्रदेश के विभिन्न कंटेनमेंट जोन में 6 हजार से अधिक पुलिसकर्मी सक्रियता पूर्वक मुस्तेदी से कार्य कर रहे है। कोरोना की जंग में इंस्पेक्टर देवेन्द्र कुमार चंद्रवंशी और यशवंत पाल, सब इंस्पेक्टर  मायाराम खराड़ी और आरक्षक  टिंकू रावत सेवा करते हुए शहीद हुए है। वर्तमान में 86 पुलिसकर्मी और 5 होमगार्ड के जवान कुल 91 कर्मचारी कोरोना संक्रमित होकर उपचारत है।