गृहमंत्री की पत्नी बोली- प्रदेश में सुरक्षित नहीं बेटियां

Home-Minister's-wife-said-that-Not-safe-girls-and-women-in-the-state

भोपाल।

मध्य प्रदेश में 15 साल सत्ता से बाहर रहने वाली कांग्रेस अब सरकार में है। जो नेता अब तक सरकार पर हमला बोलते थे अब उन पर ही प्रदेश की जिम्मेदारी है। बड़ी चुनौती सुरक्षा व्यवस्था है| गृहमंत्री की पत्नी का भी ऐसा ही मानना है। गृहमंत्री बाला बच्चन की पत्नी प्रमिला बच्चन ने कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए कहा है कि प्रदेश में बेटियां और महिलाएं सुरक्षित नहीं है। उन्होंने अपने पति को प्रदेश में हो रहे अपराध पर लगाम लगाने की सलाह दी। 

दरअसल, बुधवार को बाला बच्चन ने गृहमंत्री का पदभार ग्रहण किया था।इस दौरान उनकी पत्नी भी वहां मौजूद थी। कुर्सी पर बैठते ही पत्नी प्रमिला ने उन्हें हाथ मिलाकर बधाई दी लेकिन बाला बच्चन ने पति को गले लगा लिया। बेटे ने पैर छूकर आशीर्वाद लिया।इस दौरान उन्होंने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पिछले कुछ समय में महिला अपराध बढ़ा है, उससे उन्हें डर लगता है। उनकी भी बेटी है और एक मां होने के नाते उन्हें भी इस माहौल में बच्चों की फिक्र होती है। इस दौरान पति बाला बच्चन को महिला अपराध पर लगाम लगाने की सलाह दी। उन्होंने मांग की प्रदेश में ऐसा माहौल बनाया जाए, जिससे महिलाओं को बाहर निकलने में भय न लगे। साथ ही प्रदेश में महिला अपराध की कमी आए।जिस पर बाला ने उन्हें आश्वसन दिया और एक बेहतर कानून व्यवस्था बनाने की बात कही।

बता दे कि कमलनाथ सरकार के मंत्री पदभार ग्रहण कर अपनी जिम्मेदारी संभाल रहे है।  ज्यादातर मंत्री कार्यभार संभाल चुके है और बाकियों के पदभार संभालने का सिलसिला जारी है। बुधवार को गृहमंत्री बाला बच्चन ने भी अपना पदभार ग्रहण कर लिया है।गृहमंत्री के तौर पर बाला बच्चन के सामने कई बड़ी चुनौतियां है। एनसीआरबी के आंकड़ों में मप्र बलात्कार में नंबर वन है। महिला सुरक्षा और महिला अपराध भी बड़े मुद्दे है। ऐसे में उनकी पत्नी प्रमिला बच्चन ने भी अब कानून व्यवस्था पर सवाल उठाना राजनैतिक चर्चा का विषय बन गया है।