कंप्यूटर कारोबारी को चार करोड़ की लगाई चपत, कोर्ट ने दिए एफआईआर के आदेश

huge-loss-bhopal-based-computer-owner

भोपाल। एमपी नगर जोन-1 में स्थित बूटकॉम शोरूम के मालिक को दो अलग-अलग फर्म के संचालकों और कर्मचारियों ने सैकड़ो कंम्प्युटर हड़पकर चार करोड़ रूपए से अधिक की चपत लगा दी। मामले में फरियादी की ओर से कोर्ट में प्रायवेट इस्तेखासा दायर किया गया था। जहां कोर्ट ने आरोपों को सही पाते हुए पुलिस को एफआईआर दर्ज करने के आदेश दिए। जिसके आधार पर पुलिस ने बीती रात पांच आरोपियों के खिलाफ दो अलग-अलग जालसाजी के मुकदमे दर्ज किए हैं। 

पुलिस के अनुसार प्रकाश गुप्ता एमपी नगर जोन वन में बूट कॉम नाम से कंप्युटर शोरूम को संचालित करते हैं। इसी नाम से उनकी फर्म रजिस्टर्ड है। जिसके माध्यम से बड़ी कंपनियों में कम्प्युटर व पार्टस की सप्लाई की जाती है। उन्होंने लेटेस्ट डिवाइस प्राइवेट लिमिटेड नाम की कंपनी में पिछले कई सालों में सैकड़ो कम्प्युटर व पार्ट्स की सप्लाई दी है। सारा कार्डिनेशन कंपनी के संचालक भुपेंद्र सिंह गौर, राशि गौर तथा हरी सिंह गौर के माध्यम से चलता था। पूरा लेन देन इन तीनों के ही माध्यम से होता था। पिछले कुछ समय से आरोपी लगातार आर्डर रिसीव कर रहे थे। उसका पैसा नहीं चुका रहे थे। तबाव बनाने पर आरोपियों ने चेक दिए थे। आरोपियों के चेक केश नहीं हो सके थे और बाउंस हो गए थे। बाद में जालसाजों ने चेक वापस करने के एवज में केश में कुछ भुगतान कर दिया। बची करोड़ों रूपए की रकम देने में दोबारा आनाकानी करने लगे। इसी प्रकार रवि वाधवानी और मनीष वाधवानी भी फरियादी से कम्प्युटर व पार्ट लिया करते थे। उन्होंने भी लंबे समय से करोड़ों रूपए का भुगतान रोक रखा है। पूर्व में इस मामले की शिकायत एमपी नगर थाने में की गई थी। जहां पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। इसके बाद में फरियादी कोर्ट गया और वहां से एफआईआर के आदेश कराए। तब पुलिस ने बीत रात दो अलग-अलग प्रकरण पांचो आरोपियों के खिलाफ प्रकाश गुप्ता की शिकायत पर दर्ज किए हैं।