तबादला: चुनाव के दौरान आयोग ने हटाया, कमलनाथ सरकार ने फिर वही भेजा

ias-officers-transfered-in-bhopal-mp

भोपाल। प्रदेश में लोकसभा चुनाव की आचार संहिता हटते ही फिर से तबादलों का दौर शुरु हो गया है। चुनाव से पहले मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सत्ता की कमान संभालते ही करीब 40 जिलों के कलेक्टर बदले थे और अब फिर छह जिलों के कलेक्टरों को बदला गया है। हैरानी की बात तो ये है कि चुनाव के दौरान आयोग ने जिन कलेक्टरों को हटाया था कमलनाथ सरकार ने उन्हें फिर वही पदस्थ कर दिया है।चुनाव बाद हुई इस प्रशासनिक सर्जरी में कई जिलों के कलेक्टर बदल गए हैं ,जिनमें शहडोल, छिंदवाड़ा, जबलपुर, पन्ना, मंदसौर और भिंड के कलेक्टरों के नाम शामिल है।छिंदवाड़ा में श्रीनिवास शर्मा, शहडोल में ललित कुमार दाहिमा की 16 दिन बाद ही बतौर कलेक्टर वापसी हो गई। वहीं, जबलपुर कलेक्टर छवि भारद्वाज, पन्‍ना से मनोज खत्री और मंदसौर से धनराजू एस को हटा दिया।

दरअसल, लोकसभा चुनाव होते ही प्रदेश में एक बार फिर प्रशासनिक सर्जरी हुई है। राज्य शासन ने सोमवार को छह प्रमुख सचिवों के विभाग बदलने के साथ  15 अन्य आईएएस अफसरों के तबादले कर दिए।लेकिन कलेक्टरों के तबादले वही किए गए है जहां से उन्हें आयोग ने चुनाव के दौरान हटाया था। चुनाव के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की आमसभा को लेकर कमलनाथ सरकार के मंत्री शहडोल कलेक्टोरेट पहुंचे थे। इस मामले ने तूल पकड़ा और इसकी गाज कलेक्टर ललित कुमार दाहिमा के ऊपर गिरी थी। इसकी वजह शहडोल कमिश्नर शोभित जैन की रिपोर्ट थी, जिसमें कलेक्टोरेट की बैठक में शामिल अधिकारियों के बयान थे। चुनाव आयोग ने इसे गंभीर मामला मानते हुए उन्हें हटाने के निर्देश दिए थे।

इसी तरह छिंदवाड़ा कलेक्टर रहते हुए श्रीनिवास शर्मा ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के हेलिकॉप्टर को पांच बजे के बाद उड़ान भरने की अनुमति नहीं दी थी। वहीं, मुख्यमंत्री कमलनाथ कांग्रेस के स्टार प्रचारक शत्रुघ्न सिन्हा को लेकर सौंसर पहुंचे थे, उनके हेलिकॉप्टर ने छह बजे के बाद उड़ान भरी थी। इस मामले में अनुमति लेने वाले कांग्रेस नेता के खिलाफ एफआईआर हुई थी।इस मामले की जांच अपर मुख्य सचिव मनोज श्रीवास्तव से कराई और उन्होंने कलेक्टर की कार्रवाई को नियम अनुरूप बताते हुए क्लीनचिट दी थी, लेकिन निर्वाचन आयोग ने शर्मा को हटवा दिया। इसी तरह भिंड से छोटे सिंह को हटाया गया था। उनका मंत्री गाेविंद सिंह के पांव की ओर झुकते हुए वीडियो वायरल हुआ था। उसके बाद उन्हें हटा दिया गया था।   जबलपुर कलेक्टर छवि भारद्वाज, पन्ना कलेक्टर मनोज खत्री और मंदसौर कलेक्टर धनराजू एस को हटाने की चर्चा काफी पहले से थी, लेकिन चुनाव की वजह से मामला अटका हुआ था। लेकिन आचार संहिता हटते ही उनका भी तबादला कर दिया है।वही शहडोल से शेखर वर्मा और भिंड से डॉ. विजय कुमार जे की भोपाल वापसी हो गई। 

शर्मा फिर बने ग्वालियर कमिश्नर

आचार संहिता के दौरान ग्वालियर संभाग के कमिश्नर बीएम शर्मा को हटाकर सदस्य राजस्व मंडल बनाया गया था। अब फिर से उन्हें ग्वालियर का कमिश्नर बनाया गया है। 

तबादला: चुनाव के दौरान आयोग ने हटाया, कमलनाथ सरकार ने फिर वही भेजा

तबादला: चुनाव के दौरान आयोग ने हटाया, कमलनाथ सरकार ने फिर वही भेजा

तबादला: चुनाव के दौरान आयोग ने हटाया, कमलनाथ सरकार ने फिर वही भेजा