भोपाल में एक परिवार ने पिया जहर, दादी और पोती की मौत, तीन सदस्य जूझ रहे जिंदगी और मौत से

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कर्ज में डूबे एक परिवार ने आत्महत्या का प्रयास किया है, मामला भोपाल का है, राजधानी भोपाल में कर्ज में डूबे एक मैकेनिक ने अपनी दो बेटियों, पत्नी और मां के साथ जहर पी लिया। गंभीर हालत में करीब 12 घंटे बाद मैकेनिक की नाबालिग बेटी और 67 साल की मां ने दम तोड़ दिया। परिवार ने जहर पीने के पहले जहर का ट्रायल अपने घर में पले कुत्ते पर किया। उसे गोलियां बनाकर जहर दिया गया। उसके मरने के बाद कोल्ड्रिंग्स में जहर मिलाकर खुद और पूरे परिवार को पिला दिया। मरने के पहले उन्होंने दीवार एक सुसाइड नोट लिखा। इसका वीडियो भी बनाया। इसमें उन्होंने लिखा कि वह मजबूरी में यह कदम उठा रहे हैं। उन्होंने इंसाफ चाहिए। इसका वीडियो भी बनाकर उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट किया। इसी वीडियो के सामने आने के बाद जब पुलिस उनके घर तक पहुंची, तो सभी गंभीर हालत में मिले थे। पुलिस के अनुसार गुरुवार रात को एक वीडियो सामने आया। इसमें एक परिवार के सुसाइड किए जाने की बात थी। मामले की गंभीरता को लेते हुए पिपलानी पुलिस को तत्काल मौके पर भेजा गया। न्यू अशोक विहार कॉलोनी आनंद नगर में रहने वाले 47 साल के संजीव जोशी का घर था। संजीव पेशे से मैकेनिक है। संजीव के घर में अंदर जाने पर संजीव उनकी 67 वर्षीय मां नंदनी जोशी, 45 साल की पत्नी अर्चना, 19 साल की बड़ी बेटी ग्रिश्मा जोशी और 16 साल की छोटी बेटी पूर्वी जोशी बेसुध पड़े हुए थे। सभी को पास के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां शुक्रवार सुबह करीब साढ़े 10 बजे पूर्वी ने दम तोड़ दिया। कुछ देर बाद 67 साल की नंदनी की भी सांसें टूट गईं।

परिवार ने मौत को गलेलगाने से पहले दीवार पर लिखा सुसाइड नोट- हम मजबूर हैं कायर नहीं
मरने के पहले संजीव और उनके परिवार ने घर की सभी दीवारों पर सुसाइड नोट लिखा है। इसमें हमें इंसाफ चाहिए से लेकर हम वापस आएंगे तक की बात लिखी है। हम मजबूर हैं कायर नहीं। हमारे हाथ का कलेवा न खोले। हमारी मौत के लिए यह जिम्मेदार हैं। इस तरह से घर की सभी दीवारों पर लिखा गया है। इसका उन्होंने वीडियो बनाया। इसमें परिवार के साथ घर के अंदर बैठे नजर आ रहे हैं। वीडियो में मारे हुए कुत्ते को भी दिखाया गया है। लिखे नाम की पुलिस जांच कर रही है। इसमें एक नाम बबली का आ रहा है। पुलिस के अनुसार अब तक की जांच में सामने आया है कि संजीव ने कई लोगों से कर्ज ले रखा था। इसमें उनके ही घर में किराए से रहने वाली एक महिला से भी करीब 2 लाख रुपए उधार लिया था। महिला अपनी बेटी के साथ उनके घर में दो दिन पहले तक किराए से रह रही थी। उसे अपनी बेटी की शादी करना था, इसलिए वह रुपए मांग रही थी। इसके अलावा भी संजीव ने कई लोगों से रुपए उधार ले रखे थे। बताया जाता है कि उन्होंने यह रुपए करीब पांच साल पहले मकान बनाने के लिए उधार लिए थे। उनके मकान की किस्त भी करीब 30 हजार रुपए से ज्यादा बताई जाती है। दीवार पर कुछ कागज के आवेदन भी चस्पा किए गए हैं। इनकी संख्या 13 है। एएसपी राजेश सिंह भदौरिया ने बताया कि इस मामले में जांच की जा रही है। जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने पुलिस को इस बारे में पहले बताया है या नहीं इसकी भी जांच की जा रही है।