in-crime-meeting-DIG-asked-if-hundreds-of-mobile-phones-recovered-in-the-air

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। 2012 की मध्यप्रदेश पुलिस भर्ती परीक्षा में धांधली के मामले में व्यापमं (Vyapam) के चार पूर्व अधिकारियों सहित 33 आरोपियों के खिलाफ CBI ने विशेष अदालत में आरोप तय किए है। CBI के विशेष लोक अभियोजक सतीश दिनकर ने गुरुवार को बताया कि इस सप्ताह के शुरुआत में CBI की विशेष अदालत(Court)के न्यायाधीश एस. बी. साहू ने भादंसं की संबद्ध धाराओं, भ्रष्टाचार निरोधक अधिनयम, आईटी अधिनियम के तहत 17 उम्मीदवारों और 12 बिचौलियों सहित 33 आरोपियों के खिलाफ आरोप तय किए हैं।

ये भी पढ़े- 13 मार्च से ग्रामीण क्षेत्र के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर भी लगेगी कोरोना वैक्सीन, वार्ड और तिथि निर्धारित

उन्होंने आगे कहा है कि आरोपियों पर धोखाधड़ी, फर्जी दस्तावेज गढ़ने, साजिश रचने और कंप्यूटर डेटा में हेरफेर करने के आरोप लगाए गए हैं। बता दें कि व्यापमं के पूर्व परीक्षा नियंत्रक पंकज त्रिवेदी, पूर्व प्रिंसिपल एनालिस्ट नितिन महिन्द्रा और अन्य दो पूर्व अधिकारी अजय सेन एवं चंद्र कांत मिश्रा सहित अन्य आरोपियों ने सोमवार को अदालत में सुनवाई के दौरान खुद को दोषी नहीं माना है।

ये भी पढ़े- एस्ट्राजेनेका पर रोक के बाद इसके पक्ष में आया WHO, कहा- जारी रखें वैक्सीनेशन

दिनकर ने कहा कि प्रदेश की पुलिस सेवा में उप निरीक्षकों, सूबेदारों और प्लाटून कमांडरों की भर्ती परीक्षा में शामिल होने वाले 17 अभ्यर्थियों सहित व्यापमं के चार पूर्व कर्मचारियों एवं 12 बिचौलियों के खिलाफ आरोप तय किए गए हैं।