अपर मुख्य सचिव की दो टूक- निर्माण कार्य रुका तो वेतन वृद्धियाँ भी रुक जायेंगी

उद्यानिकी विभाग (Horticulture Department) के अपर मुख्य सचिव ने इंजीनियर्स को हिदायत देते हुए कहा कि निर्माण कार्य रुका तो वेतन वृद्धियाँ भी रुक जायेंगी ।

अपर मुख्य सचिव

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। उद्यानिकी एवं खाद्य प्र-संस्करण (स्वतंत्र प्रभार) एवं नर्मदा घाटी विकास राज्य मंत्री भारत सिंह कुशवाह (Bharat Singh Kushwaha) ने दो टूक शब्दों में कहा कि नर्मदा घाटी विकास परियोजना (Narmada Valley Development Project) में प्रस्तावित सभी सिंचाई परियोजनाओं को तय समय-सीमा में पूरा कराया जाये। वही उद्यानिकी विभाग (Horticulture Department) के अपर मुख्य सचिव ने इंजीनियर्स को हिदायत देते हुए कहा कि निर्माण कार्य रुका तो वेतन वृद्धियाँ भी रुक जायेंगी ।

यह भी पढ़े.. MP Weather Aler: मप्र के इन जिलों में भारी बारिश की चेतावनी, जानें अपने शहर का हाल

दरअसल, उद्यानिकी एवं खाद्य प्र-संस्करण (स्वतंत्र प्रभार) एवं नर्मदा घाटी विकास राज्य मंत्री भारत सिंह कुशवाह नर्मदा घाटी विकास भवन के सभाकक्ष में सोमवार को विभागीय समीक्षा कर रहे थे और उन्होंने कहा कि नर्मदा घाटी विकास परियोजना में प्रस्तावित सभी सिंचाई परियोजनाओं को तय समय-सीमा में पूरा कराया जाये।​नर्मदा घाटी विकास अंतर्गत सभी सिंचाई परियोजनाओं को समय पर पूरा कराने के लिये इंजीनियर्स निर्माण एजेंसियों से लगातार सम्पर्क में रहें और यह सुनिश्चित करें कि काम नहीं रुके। अधिकारियों को परियोजनाओं के निर्माण की सतत मॉनिटरिंग करना चाहिये।

यह भी पढ़े.. MP: उच्च शिक्षा विभाग ने कर्मचारी-अधिकारियों को दिया तोहफा, वेतन वृद्धि को लेकर निर्देश जारी

वही अपर मुख्य सचिव आईपीसी केशरी (Additional Chief Secretary IPC Keshari) ने इंजीनियर्स को हिदायत देते हुए कहा कि निर्माण कार्यों में अनावश्यक विलम्ब हुआ और निर्माण एजेंसियों द्वारा कार्य रोका गया, तो इसके लिये संबंधित इंजीनियर्स जिम्मेदार होंगे। निर्माण कार्य रुकने पर अधिकारियों की वेतन वृद्धियाँ(increments) भी रुक सकती हैं। बैठक में मुख्य अभियंता, अधीक्षण यंत्री और कार्यपालन यंत्री मौजूद थे