क्या बजट सत्र में सरकार को घेरने की तैयारी में विपक्ष?

भोपाल। मध्यप्रदेश का बजट सत्र नजदीक है। ऐसे में विपक्ष की तरफ से सरकार पर दबाव बनाने की कोशिश जारी है। विपक्ष आए दिन किसी ना किसी नई रणनीति के साथ सरकार को घेरने के प्रयास में है। जिसमें बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं ने एकजुट होकर कमलनाथ(Kamalnath) सरकार पर दबाव बनाने के लिए अपनी कमर कस ली है।

सोमवार को हुई एक बैठक जिसमें बीजेपी के नए प्रदेश अध्यक्ष वी.डी शर्मा(V.D. sharma) शिवराज सिंह चौहान(Shivraj Singh Chouhan), गोपाल भार्गव(Gopal Bhargava) के साथ बीजेपी के अन्य विधायक मौजूद रहे।

क्षेत्रीय उपचुनाव के साथ उन्होंने अपनी एकजुटता को बजट सत्र में भी दिखाने का संकल्प लिया। इस बैठक में क्षेत्रीय समस्याओं पर ज्यादा बल दिया गया।

विश्वास सारंग का सरकार पर आरोप

कमलनाथ पर आरोप लगाते हुए विश्वास सारंग ने बताया कि अभी तक किसानों की कर्ज माफी नहीं हुई है जिसका उन्हें उपचुनाव में खामियाजा भुगतना पड़ेगा। यह सरकार झूठी घोषणाओं की सरकार है।

नहीं हो रहा प्रोटोकॉल का पालन – गोपाल भार्गव

वहीं नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा कि कांग्रेस राज में विधायकों का अपमान हो रहा है। ना ही उन्हें किसी सरकारी कार्यक्रम में बुलाया जा रहा है और ना ही निर्धारित प्रोटोकॉल का पालन किया जा रहा है। कमलनाथ सरकार को आड़े हाथ लेते हुए गोपाल भार्गव ने कहा कि अभी तक कन्यादान विवाह योजना की राशि नहीं मिलने की वजह से कई महिलाओं के तलाक हो गया और कई महिलाओं को नगर छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा है। ओलावृष्टि से फसलें हुईं बर्बाद जिसकी खबर लेने वाले तो कोई नहीं है|