Surgical Strike 2.0: MP में बने इन बमों से इंडियन एयरफोर्स ने जैश के हैडक्वार्टर को किया तबाह

jabalpur-bombs-made-in-ordnance-factory-jabalpur-destroyed-terror-camps-in-pok

भोपाल/जबलपुर।

भारत ने आज सुबह पुलवामा आतंकी हमले का बदला ले लिया है।  भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तान में घुसकर जैश-ए-मोहम्मद के कैंपों पर बम गिराए। भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को सुबह साढ़े 3 बजे 12 मिराज 2000 भारतीय लड़ाकू जेट विमानों ने एलओसी के पार जाकर आतंकवादी कैंपों पर निशाना बनाया। सेना के इस सर्जिकल स्ट्राइक टू के बाद देशभर में जश्न का माहौल है, मिठाईयां बांटी जा रही है, पटाखे छोड़े जा रहे है, लोग पीएम मोदी और भारतीय सेना की जमकर तारीफ कर रहे है। सड़क से लेकर सोशल मीडिया तक लोगों की प्रतिक्रिया सामने आ रही है। इसी बीच हम आपको एक खास जानकारी देने जा रहे है। क्या आपको पता है भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तान पर हमले के लिए जिन बमों का इस्तेमाल किया वह मध्यप्रदेश की संस्कारधानी कहे जाने वाले जबलपुर की आयुध निर्माण फैक्ट्री में बनाए जाते हैं।

दरअसल, आज सुबह इंडियन एयर फोर्स ने नियंत्रण रेखा के पार आतंकवादी कैम्पों पर जो 1,000 किलोग्राम के बम गिराए वह मध्यप्रदेश के जबलपुर की खमरिया की फैक्ट्री में बनाए जाते है। इस फैक्ट्री में 1000 Ponder बमों का निर्माण 12 वर्षों से किया जा रहा है। आयुध निर्माण खमरिया के कर्मचारी पुलवामा आतंकी हमले के बाद लिए गए इस बदले से बहुत खुश हैं, उन्हें इस बात का भी गर्व है कि उनके बनाए बमों ने आतंकी कैंपों को खत्म कर दिया। अधिकारियों ने भी सेना के इस कदम की तारीफ की है। पूरे प्रदेश में जश्न का माहौल बना हुआ है।

जाने क्या है मिराज 2000 

यह फ्रांस की डसॉल्ट कंपनी लड़ाकू विमान मिराज 2000 का निर्माण करती है। मिराज 2000 चौथी जनरेशन का मल्टीरोल सिंगल इंजन लड़ाकू विमान है। इसकी पहली उड़ान 1970 में भरी गई थी। यह फाइटर प्लेन लगभग 9 देशों में अपनी सेवाएं दे रहा है। मिराज 2000 के कुल 6 वैरिएंट हैं जिनमें मिराज 2000 सी, मिराज 2000 बी, मिराज 2000 डी, मिराज    2000  एन,  मिराज 2000- 5ए, मिराज 2000 ई शामिल हैं। मिराज-2000 विमान की लंबाई 47 फीट और इस खाली विमान का वजन 7500 किलो है। मिराज-2000 एक साथ हवा से जमीन और हवा से हवा में भी मार करने में सक्षम है।बता दें कि डसॉल्ट कंपनी वही कंपनी है जिसने राफेल को बनाया था।

गौरतलब है कि जम्‍मू-कश्‍मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले का बदला लेने के लिए भारतीय वायुसेना ने POK में घुसकर जैश के ठिकानों पर हमला किया है। बताया जाता है कि रात करीब साढ़े तीन बजे एक साथ 12 मिराज-2000 लड़ाकू विमानों ने आतंकियों के बड़े ठिकानों पर हमला किया और उसे पूरी तरह से तबाह कर दिया। भारतीय वायुसेना से जुड़े सूत्रों ने बताया कि वायुसेना के विमानों ने बीती रात नियंत्रण रेखा के पार जैश के आतंकी कैंप पर करीब 1000 किलोग्राम के बम बरसाए। अभी तक की सूचना के मुताबिक दो से तीन सौ आतंकियों के मारे जाने की सूचना है।