कांग्रेस को राहत, जयश्री ने वापस लिया नामांकन, अब दो पूर्व प्रदेशाध्यक्षों में सीधा मुकाबला

3086
jaishree-thakur-withdraw-nomination-in-khandwa-

भोपाल| लोकसभा चुनाव को लेकर मध्य प्रदेश में 20 से ज्यादा सीट जीतने का दावा कर रही कांग्रेस को बड़ी राहत मिली है| खंडवा सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी की मुश्किलें बढ़ाने वाले निर्दलीय विधायक ठाकुर सुरेंद्र सिंह शेरा मुख्यमंत्री कमलनाथ से मुलाक़ात के बाद मान गए हैं और गुरूवार को उनकी पत्नी जयश्री ठाकुर ने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में भरा नामांकन वापस ले लिया है| 

 खण्डवा लोकसभा सीट कांग्रेस और भाजपा के लिए प्रतिष्ठा का सवाल बनी हुई है । भाजपा के दिग्गज पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान मौजूदा सांसद हैं । इस सीट पर कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव और नंदकुमारसिंह चौहान के बीच दो बार मुकाबला हो चुका है । पहली बार मे अरुण यादव विजयी हुए थे लेकिन दूसरी बार सिंह ने अपनी हार का बदला ले कर  यादव को पराजित कर दिया । इस तरह मुकाबला 1- 1 से बराबर है । यहां विधानसभा चुनाव में कांग्रेस से टिकट नहीं मिलने के बाद निर्दलीय चुनाव मैदान में उतरे और जीत का सेहरा पहनने वाले ठाकुर सुरेंद्रसिंह शेरा ने कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ा दी थी| सुरेंद्र ने उनकी पत्नी जयश्री का निर्दलीय नामांकन दाखिल करा दिया था और अरुण यादाव पर जमकर हमला बोला था| लेकिन भोपाल में मुख्यमंत्री कमलनाथ से मुलाकात के बाद शेरा मान गए, उन्हें सीएम ने चुनाव बाद बड़ी जिम्मेदारी सौंपने का आश्वासन दिया है| जिसके बाद उन्होंने नामांकन वापस लेने का ऐलान किया था| गुरूवार को जयश्री ठाकुर ने नामांकन वापस ले लिया| जिससे कांग्रेस को बड़ी राहत मिली है| अब कांग्रेस और भाजपा के बीच सीधा और कडा मुकाबला है, दो पूर्व प्रदेशों के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिल रही है| 

कांग्रेस 9 तो भाजपा 6 बार जीती 

खंडवा लोकसभा के 16 चुनाव में कांग्रेस से 9 बार सांसद चुने गए। वहीं बीजेपी से 6 बार तो एक बार भारतीय लोक दल से परमानंद गोविंदजीवाला चुने गए। लोकसभा सीट पर बुरहानपुर ने 11 सांसद दिए हैं जबकि खंडवा ने 4 और खरगोन ने 1 सांसद। अकेले सांसद नंदकुमार सिंह चौहान ही 5 बार सांसद चुने गए है।  यानी कह सकते हैं कि बुरहानपुर में आजादी के बाद से ही कदावर नेता बडी संख्या में उभरे हैं। 

ये रहे अब तक सांसद

1952 बाबूलाल तिवारी कांग्रेस खंडवा

1957 बाबूलाल तिवारी कांग्रेस खंडवा

1962 महेष मिश्रा कांग्रेस खंडवा

1967 गंगाचरण दीक्षित कांग्रेस बुरहानपुर

1971 गंगाचरण दीक्षित कांग्रेस बुरहानपुर

1977 परमानंद गोविंदजीवाला भारतीय लोक दल बुरहानपुर

1980 ठाकुर षिवकुमारसिंह कांग्रेस बुरहानपुर

1984 कालीचरण सकरगाए कांग्रेस खंडवा

1989 अमृतलाल तारवाला भाजपा बुरहानपुर

1991 ठाकुर महेंद्रसिंह कांग्रेस बुरहानपुर

1996 नंदकुमारसिंह चौहान भाजपा बुरहानपुर

1998 नंदकुमारसिंह चौहान भाजपा बुरहानपुर

1999 नंदकुमारसिंह चौहान भाजपा बुरहानपुर

2004 नंदकुमारसिंह चौहान भाजपा बुरहानपुर

2009 अरूण यादव कांग्रेस खरगोन

2014 नंदकुमारसिंह चौहान भाजपा बुरहानपुर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here