jitu-patwari-attack-on-shivraj-singh

भोपाल/इंदौर।

मध्य प्रदेश के मिनी मुंबई कहे जाने वाले इंदौर में कोरोनावायरस (Coronavirus) के संक्रमण की चपेट में आये डॉक्टर शत्रुघ्न पंजवानी की मौत के बाद पूर्व मंत्री और राउ से कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी ने मुख्यमंत्री शिवराज से उनके परिवार को दो करोड़ की सहायता राशि देने की मांग की है।जीतू ने कहा कि इंदौर में एक कोरोना संक्रमित डॉक्टर की मौत ने सभी को डरा दिया है।मैंने पूर्व में माँग की थी -कोरोना की जंग लड़ रहे योद्धाओं के साथ अनहोनी होने पर परिवार को 2 करोड़ की सहायता दी जाय।शिवराज जी,आशा है आप तत्काल 2 करोड़ की सहायता का ऐलान कर अपना फ़र्ज़ निभायेंगे।

वही उनकी मौत के बाद बेटों के ना पहुंचने पर प्रशासन की अधिकृत टीम द्वारा उनका अंतिम संस्कार किया गया।बताया जा रहा है कि मृतक डॉक्टर के तीन बेटे ऑस्ट्रेलिया हैं, पिता की मौत की जानकारी होने के बाद उन्होंने वीडियो कांफ्रेंसिंग से पिता के शव को देखा। दूर से वीडियो बनाए जाने के कारण वे अंतिम समय में उनका चेहरा भी देख नहीं सके। अस्पताल में शव को सुरक्षित रखते हुए पैकिंग की गई। इस समय वीडियो से उन्हें अंतिम दर्शन कराए गए।बता दें कि कोरोना से मौत होने के बाद मृतक की लाश परिजनों को नहीं दी जाती। मृतक का अंतिम संस्कार स्वास्थ्य विभाग की टीम करती है।

दरअसल, गुरुवार सुबह इंदौर में एक डॉक्टर शत्रुघ्न पंजवानी की कोरोना संक्रमण की चपेट में आने से मौत हो गई।रूपराम नगर में रहने वाले 62 वर्षीय डाॅ. शत्रुघ्न पंजवानी जनरल फिजिशियन थे और प्राइवेट प्रैक्टिस करते थे। काेराेना के चलते किसी डाॅक्टर की देश में यह पहली माैत है। एमजीएम अस्पताल ने बुधवार रात काेविड-19 के मरीजाें की सूची जारी की थी, जिसमें डाॅ. पंजवानी का भी नाम था। उनमें काेराेना के लक्षण थे, 8 अप्रैल को कोविड पॉजिटिव रिपोर्ट आने पर उन्हें अरविंदो हास्पिटल इंदौर में भर्ती कराया गया था। अस्पताल में भर्ती रहने के दौरान 9 अप्रैल सुबह 4 .30 बजे शत्रुघ्न पंजवानी की मौत हो गई। मेडिकल कॉलेज इंदौर से प्राप्त जानकारी के अनुसार डॉक्टर शत्रुघ्न पंजवानी 62 वर्ष के थे। लेकिन प्रशासन काे अभी पता नहीं चला है कि उन्हें संक्रमण कैसे हुआ। चीफ मेडिकल ऑफिसर (सीएमएचओ) डाॅ. प्रवीण जड़िया ने कहा लगता है कि इलाज के दाैरान वह किसी संक्रमित के संपर्क में आए थे। उनके संक्रमण का स्राेत पता लगाने के प्रयास किए जा रहे हैं।

पांच दिन पहले वीडियो जारी कर कहा था मैं ठीक हूं
कोरोना संक्रमण से मृत डॉ. पंजवानी ने 6 दिन पहले वीडियो जारी कर कहा था कि मैं बिलकुल स्वस्थ, स्वच्छ हूं और घर में परिवार के साथ बैठा हूं। मुझे कोई बीमारी नहीं है। मुझे बीमार बताने वाले जो भी वीडियो सोशल मीडिया पर चलाए जा रहे हैं, वे गलत हैं और मुझे बदनाम करने की साजिश है। उस पर ध्यान न दें। वे गलत हैं। मुझे कोई परेशानी नहीं है। मैं घर में आराम से बैठा हूं।